प्रदेश के कृषको के लिए उत्पादित कृषि उपज के विपणन हेतु एक ठोस कार्य योजना तैयार की जाएगी: सचिव कृषि।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: सचिव, कृषि शैलेश बगोली की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। यह बैठक कृषि एवं अन्य रेखीय विभागों के साथ प्रदेश के विश्वविद्यालयों के बीच समन्वय स्थापित करते हुए प्रदेश के कृषको हेतु एक उपयुक्त उत्पादन प्लान बनाने के साथ-साथ उत्पादित कृषि उपज के विपणन हेतु एक ठोस कार्य योजना तैयार करने हेतु आहूत की गई थी।

और पढ़ें  ग्रामीणों को जागरूक कर बाँटे कोविड सुरक्षा किट।

सचिव कृषि द्वारा निर्देशित किया गया की कार्य योजना में कृषकों के उत्पादों को विभिन्न ग्रामों से संग्रह कर रोड तक लाने एवं रोड साइड पर स्टोर करने की व्यवस्था भी की जाए। सचिव कृषि द्वारा निदेशक मंडी को विपणन हेतु नोडल अधिकारी नामित करते हुए निर्देश दिया गया कि उनके नेतृत्व में एक राज्यस्तरीय तथा समस्त जनपदों में जनपद स्तरीय कमेटी का गठन कर लिया जाए जिससे कृषि उद्यान सहित समस्त रेखीय विभागों के प्रतिनिधि तथा राज्य के तीनों कृषि संस्थानों पंतनगर, भरसार तथा अल्मोड़ा के प्रतिनिधि भी सम्मिलित रहे ।

और पढ़ें  त्रिवेंद्र ने की दो टीके लगवाने वालों को चारधाम यात्रा की छूट की पैरवी।

बैठक में पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ शुक्ला द्वारा प्रत्येक जनपद हेतु फसल चिन्हित करने तथा इसके उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित करने हेतु आग्रह किया गया।
निदेशक शोध पंतनगर विश्वविद्यालय द्वारा विश्वविद्यालय की उपलब्धियों एवं प्रदेश में विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किए गए योगदान के बारे में अवगत कराया गया। निदेशक मंडी द्वारा प्रदेश के परंपरागत फसलों विशेषता जैविक उत्पादन के संग्रह के बारे में अवगत कराते हुए किसानो को प्राप्त हो रहे लाभ के बारे में बताया गया।
अपर सचिव कृषि ने पंतनगर विश्वविद्यालय एवं कृषि विभाग द्वारा कृषकों की आय दुगना किए जाने के लिए बनाए गए प्लान के बारे में अवगत कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.