जमीन फर्जीवाड़े में इंस्टिट्यूट के डारेक्टर को 24 लाख का चूना।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


संवादसूत्र देहरादून/ऋषिकेश: ऋषिकेश के एक निजी इंस्टिट्यूट समूह में निदेशक के पद पर तैनात एक व्यक्ति को उनके ही तीन दोस्तों जमीन बेचने के नाम पर 24 लाख का चूना लगा दिया। पुलिस ने तीनों आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
ऋषिकेश कोतवाली पुलिस के मुताबिक इस मामले में दून ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट ऋषिकेश के निदेशक डा. नीरज कुमार ने पुलिस को तहरीर दी। जिसमे उन्होंने बताया कि सहसपुर देहरादून निवासी नीरज कुमार तथा उसके दो अन्य दोस्त दिल्ली निवासी संजय गुप्ता तथा मालवीय नगर राजस्थान निवासी प्रतीक से उनके पिछले पांच वर्षों से दोस्ताना रिश्ते थे। सितंबर-अक्टूबर 2021 को उनके दोस्तों ने उन्हें देहरादून में राजपुर रोड क्षेत्र में एक प्लाट बिक्री के लिए दिखाया। जिसके लिए उन्होंने 24 लाख रुपए अपने दोस्तों के खाते में ट्रांसफर कर दिए। मगर, कुछ समय बाद जब उन्होंने इस जमीन तथा इससे जुड़े दस्तावेजों की भौतिक जांच करवाई तो जमीन और कागजात फर्जी निकले। इस पर दून ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट ऋषिकेश के निदेशक डा. नीरज कुमार ने अपने पैसे वापस मांगे। मगर, तीनों दोस्तों ने अपने मोबाइल स्विच आफ कर दिए। जब उन्होंने अन्य माध्यम से दबाव बनाया तो आरोपितों ने उन्हें 24 लाख रुपए का एक बैंक चेक दिया। जब उन्होंने इस चेक को बैंक से कैश करवाना चाहा तो बैंक ने उसे अनाद्रित कर दिया।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार सैनी ने बताया कि पीड़ित डा. नीरज कुमार की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित सहसपुर देहरादून निवासी नीरज कुमार, दिल्ली निवासी संजय गुप्ता तथा मालवीय नगर राजस्थान निवासी प्रतीक के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि मामले की विवेचना प्रारंभ कर दी गई है। शीघ्र ही आरोपित उनकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.