पोस्टमार्टम के बाद श्रीनगर रवाना किया गया अंकिता का पार्थिव शरीर, पिता कह गए ये बात।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


संवादसूत्र देहरादून: एम्स ऋषिकेश में पोस्टमार्टम के बाद अंकिता के पार्थिव शरीर को श्रीनगर उनके पैतृक घाट के लिए रवाना किया गया है। इस दौरान गेम्स मोर्चरी में मौजूद नागरिकों ने एंबुलेंस को रोकने का प्रयास किया। उनकी मांग थी कि पहले अंकिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाए।
साईं करीब 4:00 बजे अंकिता के पार्थिव शरीर को पोस्टमार्टम के बाद मोर्चरी से बाहर लाया गया। पार्थिव शरीर को एंबुलेंस में रखा गया तो यहां मौजूद नागरिकों ने एंबुलेंस के आगे आकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। उनका कहना था कि अंकिता के साथ क्या हुआ, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में क्या बात सामने आई, इसका खुलासा किया जाए। पुलिस तथा प्रशासन ने भीड़ को समझाने की कोशिश की। मगर कोई असर नहीं हुआ। जिसके बाद पुलिस ने इसी तरह से भीड़ को हटाकर इसी तरह एंबुलेंस को एम्स परिसर से बाहर भेजा। इस दौरान नागरिकों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। पार्थिव शरीर के साथ अंकिता के पिता तथा भाई एंबुलेंस में रवाना हुए हैं। अंकिता के पिता वीरेंद्र सिंह भंडारी ने कहा कि उनकी बेटी को दरिंदों ने मार डाला है, इसके लिए वह दरिंदों के लिए फांसी की सजा चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वीडियो तथा नागरिकों के सहयोग से उनकी शिकायत को गंभीरता से लिया गया। उन्होंने कहा कि आरोपितों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए, ताकि कोई और बेटी इस तरह की दरिंदों की शिकार ना बने।