गढ़वाल हितैषिणी सभा के कार्यकारिणी चुनावों में अजय सिंह बिष्ट अध्यक्ष पद पर विजयी।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र दिल्ली: रविवार 7 नवंबर को दिल्ली के पंचकुइया रोड स्थित गढ़वाल भवन की कार्यकारिणी का चुनाव प्रातः 9 बजे से प्रारम्भ होकर सांय 5 बजे तक चला। सभा के आजीवन सदस्यों ने अपने अपने मत का उपयोग किया। भवन के प्रांगण में प्रातः से ही प्रवासी उत्तराखंडियों का हजूम लगने लगा था दोपहर तक ये अपने चरम पर आ गया और प्रत्याशी, मतदाता एक दूसरे से गुप्तगू करते देखे गए वहीं दोनों पैनलों के समर्थक भी भारी संख्या में मौजूद दिखे। हर कोई अपने अपने पैनल की जीत के दावे कर रहा था, कुल 4325 सदस्यों में से केवल 1379 सदस्यों ने ही इस चुनाव प्रक्रिया में अपने मत का प्रयोग किया।रात 8 बजे चुनाव परिणाम आने के बाद अजय सिंह बिष्ट, द्वारिका भट्ट एवं अनिल पंत के पैनल को भारी बहुमत से मिली जीत से उनके समर्थक ख़ुशी से झूम उठे और अपने लोक संगीत के साथ ताल से ताल मिला नाचने गाने लगे।
अब जब गढ़वाल हितैषिणी सभा अपने सौवें साल में पदार्पण करने जा रही है ऐसे में ये चुनाव अत्यधिक महत्पूर्ण हो गए थे। हालांकि चुनाव से पूर्व दोनों पैनलों ने आपस में बैठकर एक राय बनाने के प्रयास किए थे किंतु उनको इसमें सफलता नहीं मिली और अंत में चुनावों से कार्यकारिणी का चयन करना पड़ा। सोशल मीडिया पर दोनों पैनलों ने एक-दूसरे पर जिस तरह अनियत्रित भाषा से आरोप प्रत्यारोप लगाए उसे देखते हुए लग रहा था कि आज माहौल कुछ गर्म रहेगा किंतु सभी ने संयम से काम लिया और एक- दूसरे के सम्मान के साथ चुनाव प्रक्रिया को बड़ी शांति के साथ संपन्न कराया।

और पढ़ें  राज्य में आज 243 कोरोना संक्रमित,1 मरीज की मौत।

दोनों ही पैनल का मुख्य मुद्दा गढ़वाल भवन के अतिक्रमण को हटाना और नए सदस्यों को संस्था से जोड़ना रहा साथ ही भवन में चल रहे भ्रष्टाचार को खत्म करने का रहा तो पैनल न. 1 ने शिक्षा व रोजगार को सभा द्वारा प्रोत्साहित करने का मुद्दा भी उठाया जिससे युवा उनसे जुड़ता चला गया। अजय सिंह बिष्ट जी के पैनल को लोक कलाकारों का अपार समर्थन भी उनकी विजय का कारण बना।

और पढ़ें  बदमाशों ने परिवार को बंधक बनाकर दिया लूट की वारदात को अंजाम।

जीत के बाद नवनियुक्त अध्यक्ष अजय सिंह बिष्ट काफी खुश दिखाई दिए और उन्होंने कहा कि ये जीत हमारी नहीं बल्कि पूरे समाज की जीत है और हमार लिए सबसे बड़ी चुनौती होगी भवन से अतिक्रमण को शीघ्रातिशीघ्र हटाना इसके अलावा हम सभा के संविधान के अनुसार नए सदस्य बनाने पर भी विचार करेंगे। हमारे पैनल को जिताने के लिए मैं अपने सभी समर्थकों और समाज के लोगों का आभार प्रकट करता हूं और विश्वास दिलाता हूं कि भवन हमेशा अपने समाज को सर्वोपरि रखकर ही अपने कार्य करेगा।

और पढ़ें  महिला कमाण्डो फोर्स एवं स्मार्ट चीता पुलिस दस्ते का गठन।

नई कार्यकारिणी के विजेताओं की सूचि:
अजय सिंह बिष्ट (अध्यक्ष)

जय सिंह राणा (उपाध्यक्ष)

द्वारिका भट्ट (महासचिव)

दीपक द्विवेदी (सचिव)

गुलाब सिंह जयाड़ा (कोषाध्यक्ष)

अनिल सिंह पंत (उप-कोषाध्यक्ष)

मुरारी लाल खंडूड़ी (संगठन सचिव)

संयोगिता ध्यानी (सांस्कृतिक सचिव)

मनोरमा भट्ट (साहित्यिक सचिव)

भगवान् सिंह नेगी (खेल सचिव)

Leave a Reply

Your email address will not be published.