अंकिता भंडारी के पैतृक गांव पहुंची कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या, परिवार के प्रति जताई सहानुभूति।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

दोषियों को हर हाल में दी जाएगी कड़ी से कड़ी सजा-रेखा आर्या

संवादसूत्र देहरादून /पौड़ी: आज महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या डोभ श्रीकोट पहुंची जहाँ उन्होंने अंकिता भंडारी के परिजनों से मुलाक़ात की. कैबिनेट मंत्री ने शोक संतप्त पीड़ित परिजनों को सांत्वना दी और परिजनों को ढांढस बंधाया.
उन्होंने कहा की दुख की इस घड़ी में पूरी सरकार और उनका स्वयं का बाल विकास विभाग परिजनों के साथ खड़ा है।

मीडिया से बात करते हुए मंत्री रेखा आर्या ने कहा की जिस प्रकार की यह घटना घटित हुई है इसने पूरे प्रदेश को झकझोर कर रख दिया है,आगे से ऐसी घटना किसी बेटी के साथ ना होने पाए इसके लिए हम कठोर से कठोरतम कदम उठाएंगे. उन्होंने कहा की इस पूरे मामले में सरकार ने अपनी तत्परता व गंभीरता दिखाते हुए दोषियों को तुरंत गिरफ्तार किया और साथ ही अवैध रिसोर्ट पर बुलडोजर चलाया. उन्होंने कहा की शायद इस प्रकार की कारवाही प्रदेश में पहले कभी नहीं हुई।

और पढ़ें  राज्य में आज कोरोना के मात्र 82 मामले, 2 की मौत।

वहीँ पीड़ित अंकिता माँ -पिता से बात करते हुए उन्होंने कहा की चुंकि अंकिता की माता जी मिनी आंगनबाड़ी केंद्र में कार्यरत है ऐसे में उनकी कोशिश रहेगी की जैसे ही मिनी आंगनबाड़ी केंद्र का उच्चीकरण होता है उन्हें पूर्ण आंगनबाड़ी केंद्र में समायोजित किया जायेगा।

साथ ही कहा की इस मामले पर हमारी सरकार संवेदनशील और मामले की गंभीरता को देखते हुए ही हमने फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट और SIT के गठन का तुरंत निर्णय लिया. जिस स्थान पर यह घटना घटित हुई हमने उस रिसोर्ट को ध्वस्त करने के साथ ही प्रदेश में संचालित ऐसे अवैध निर्माण के ध्वस्तीकरण के निर्देश भी दिए हैं. उन्होंने कहा की बेटियां हमारा मान, सम्मान और अभिमान है और ऐसी घटना को अंजाम देने वाले दोषियों के खिलाफ हम ऐसी कारवाही करेंगे जो समाज में नजीर बनेगी।

और पढ़ें  भारतीय सेना में शहीद हुए 52 सैनिकों के परिजनों को दिया ताम्र पत्र।

इसके साथ ही उन्होंने सम्बंधित अधिकारियो को निर्देश दिए की जिला विधिक प्राधिकरण से वार्ता करके उनके विभाग के द्वारा पीड़ित परिजनों को एक सम्मानजनक राशि प्रदान करने की व्यवस्था की जाये।