सात हजार फिट की ऊंचाई पर चट्टानों को काटकर बना सरोवर।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/पिथौरागढ़: वन विभाग ने सात हजार फिट की ऊंचाई पर थलकेदार में कठोर चट्टानों को काटकर अमृत सरोवर तैयार कर लिया है। ग्रीष्म काल में इस सरोवर का जल वन्यजीवों के लिए किसी अमृत से कम नहीं होगा।

जिला मुख्यालय से 20 किमी दूर थलकेदार क्षेत्र नैसर्गिक रूप से जिले के सबसे रमणीक स्थलों में से एक है। भगवान शिव की कही जाने वाली इस भूमि पर चारों से घने जंगल हैं। लेकिन इस क्षेत्र मेंं पानी की कमी है। जंगली जानवर पानी की कमी के चलते ग्रीष्म काल में मानव बस्तियों के आसपास भी पहुंच जाते हैं। रूख करना पड़ता है। इसे देखते हुए वन विभाग ने आरक्षित वन क्षेत्र में सरोवर बनाने का निर्णय लिया। सराेवर के लिए पेड़ नहीं काटे जा सकते थे ऐसे में सात हजार फीट की ऊंचाई पर एक कठोर चट्टान को काटकर सरोवर बनाया गया। समीप स्थित एक छोटे से प्राकृतिक जल स्रोत के पानी को सरोवर से जोड़ा गया। जिससे पानी बेकार न बहकर सरोवर में एकत्र होगा। इसके साथ ही वर्षा जल का संचय भी इसमें हो सकेगा।

और पढ़ें  शाक्य एकेडमी में फिर की एक छात्र ने खुदकुशी।

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के पौत्र की मौजूदगी में उदघाटन
15 अगस्त को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कालू सिंह के पौत्र ललित मोहन की मौजूदगी में जिला पंचायत उपाध्यक्ष कोमल मेहता ने सरोवर का उद्घाटन किया। वन क्षेत्राधिकारी दिनेश जोशी ने बताया कि इतनी ऊंचाई पर सरोवर का बनाना एक उपलब्धि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.