आईआईटी रुड़की का मामला:एक करोड़ का गबन करने वाला आरोपित कर्मचारी गिरफ्तार।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/रुड़की: रुड़की कोतवाली पुलिस ने आईआईटी रुड़की 1.05 करोड़ रुपए स्थानांतरित करने के मामले में आईआईटी रुड़की के ही एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है ।आरोपी धीरज कुमार उपाध्याय निवासी पटेरहा थाना पडरौना जिला कुशीनगर उत्तर प्रदेश है । आरोपी वर्तमान में भंगेड़ी गांव में रह रहा है। लेकिन केस दर्ज होने के बाद से वह पिछले लंबे समय से फरार चल रहा था। जिसके लिए पुलिस लगातार तलाश में जुटी थी। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आरोपी ने बताया कि वह आईआईटी डीन ऑफिस में सीनियर असिस्टेंट क्लर्क था। 2017 से उसके द्वारा संस्थान की धनराशि अपने खाते में ट्रांसफर की जा रही थी। फिलहाल उसके खाते में 20 लाख रुपए जमा है। जिन्हें होल्ड करवा दिया गया है। 11 दिसंबर 2020 को आईआईटी के कर्मचारी प्रशांत गर्ग ने पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि उनके संस्थान के एक कर्मचारी धीरज उपाध्याय ने बैंक खातों में धोखाधड़ी कर 13 बैंक की ट्रांजैक्शन के द्वारा एक करोड़ 5 लाख 35 हजार 753 हज़ार का गबन कर अपने खाते में स्थानांतरित कर लिए थे। थाना की तहरीर के आधार पर सिविल लाइन कोतवाली पुलिस ने धारा 409 आईपीसी के तहत आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया था।सिविल लाइन कोतवाली पहुंचे डीआई जी डॉ योगेंद्र सिंह ने बताया कि आई आई टी का कर्मचारी धीरज कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.