ग्राम पंचायत विकास योजना विषयक दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: विकास खण्ड ऊखीमठ के न्याय पंचायत फाटा में वार्ड सदस्यों एवं रेखीय विभाग कार्मिकों का दो दिवसीय जी पी डी पी प्रशिक्षण कार्यक्रम रा इ का फाटा में समापन हुआ। प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन के अवसर डॉ किरन जयदीप ने कहा कि विभाग द्वारा संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्देश्यों को रेखांकित करते बताया कि विकास योजनाओं के निर्माण में जन प्रतिनिधियों को स्थानीय परिस्थितियों को ध्यान में रखकर ही योजनाओं को बनाना चाहिए। डा किरन जयदीप ने महिला एवं बाल विकास की विभिन्न योजनाओं को सभी प्रतिभागियों के सम्मुख रखते हुए कहा कि समाज में हर वर्ग को विभागीय योजनाओं से लाभान्वित करने के लिए हम सब को मिलकर काम करने की जरूरत है। जानकारी के अभाव में जरूरत मंद तक योजनाएं नहीं पहुंच पा रही है। पंचायत प्रतिनिधि विकास योजनाओं के निर्माण में स्थानीय रोजगार सृजनात्मक कार्यों को प्रमुखता से अपनी योजनाओं में शामिल करें। क्षेत्रीय उद्यान अधिकारी बलवीर सिंह चौहान ने उद्यान विभाग की फलोद्यान, पॉलीहाउस तथा मधुमक्खी पालन के द्वारा आजीविका संवर्धन की योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया कि किस प्रकार इन योजनाओं के द्वारा रोजगार की असीमित संभावना है ।कार्यक्रम का संचालन करते हुए मुख्य प्रशिक्षक डॉ सुभाष चंद्र पुरोहित ने सतत विकास लक्ष्यों की नौ थीम के लक्ष्यों को प्राप्त करने हेतु सभी को सक्रियता से कार्य करने पर जोर दिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी कुदरत राज , क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रवीण सेमवाल, प्रधान पिंकी देवी, पूनम देवी प्रमोद सिंह राजेश्वरी देवी, ग्राम जामू, खड़िया, खाट, गौरीकुंड, त्रियुगीनारायण, मैखण्डा, रामपुर पंचायतों के वार्ड सदस्य, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता आदि उपस्थित रहे।