कोरोना की स्थिति दुनिया में: दिल्ली में गुरुवार को ओमिक्रॉन के 4 नए मामले मिले।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/दिल्ली: इंडोनेशिया में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला केस मिला है। देश के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि बुधवार को जर्काता के विस्मा एटलेट अस्पताल में एक सफाइकर्मी संक्रमित पाया गया है।

बुधवार को ही फिलीपींस में भी ओमिक्रॉन ने दस्तक दी। नाइजीरिया और जापान से यहां पहुंचे 2 ट्रैवलर्स में बुधवार को नए वैरिएंट की पुष्टि हुई। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि नाइजीरियाई युवक ओमान एयर की फ्लाइट से 30 नवंबर को मनीला पहुंचा, जबकि फिलिपीन मूल का व्यक्ति 1 दिसंबर को जापान से आया।

दिल्ली में गुरुवार को ओमिक्रॉन के 4 नए मामले मिले हैं। इसके साथ ही यहां ओमिक्रॉन के कुल मामले 10 हो गए हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने बताया कि इन 10 में से 1 व्यक्ति ठीक होकर घर जा चुका है। 9 लोगों का LNJP अस्पताल में इलाज चल रहा है। कोई भी केस गंभीर नहीं है। अब देश में ओमिक्रॉन के कुल मामले 77 हो गए हैं।

बुधवार को तमिलनाडु और बंगाल में ओमिक्रॉन के पहले केस मिले। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री ए सुब्रमण्यम ने बताया कि राज्य में 47 साल का यह संक्रमित नाइजीरिया से लौटा है। वहीं, पश्चिम बंगाल में 7 साल के बच्चे की रिपोर्ट ओमिक्रॉन पॉजिटिव आई है। यह बच्चा अबूधाबी से हैदराबाद होते हुए कोलकाता पहुंचा था। इधर, महाराष्ट्र और केरल में भी कल ओमिक्रॉन के 4-4 नए संक्रमित मिले।

मध्यप्रदेश में 24 घंटे में 18 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। बुधवार को मिले संक्रमितों में लगातार दूसरे दिन इंदौर में सबसे ज्यादा 8 केस आए हैं। भोपाल में 5 मरीज मिले हैं। उज्जैन में बड़नगर के शासकीय PG कॉलेज के प्रोफेसर संक्रमित आए हैं। वह विदिशा से शादी अटेंड कर लौटे हैं। नरसिंहपुर, खरगोन, कटनी में 1-1 मरीज मिला है। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 170 पहुंच हो गई है।

और पढ़ें  धामी कैबिनेट में लिए गए यह अहम निर्णय।

यूनिवर्सिटी ऑफ हॉन्ग कॉन्ग का दावा- डेल्टा से 70 गुना तेजी से फैलता है ओमिक्रॉन, लेकिन खतरनाक नहीं,ओमिक्रॉन वैरिएंट डेल्टा और सबसे पुराने कोविड-19 स्ट्रेन के मुकाबले 70 गुना तेजी से फैलता है। इसके बावजूद यह ज्यादा गंभीर नहीं है। यह दावा यूनिवर्सिटी ऑफ हॉन्ग-कॉन्ग ने किया है। दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टरों ने भी ओमिक्रॉन की शुरुआत में ऐसा ही दावा किया था।

हॉन्ग कॉन्ग यूनिवर्सिटी के मुताबिक, ओमिक्रॉन संक्रमण होने के 24 घंटे के अंदर इंसान की श्वसन नली में ओमिक्रॉन पाया गया। स्टडी में यह भी पाया गया वैरिएंट के मुकाबले नया वैरिएंट इंसानी फेफड़ों में रेप्लीकट करने में 10 गुना कम प्रभावी है। इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि इससे होने वाली बीमारी अधिक गंभीर नहीं होगी। यानी, ओमिक्रॉन वैरिएंट एक इंसान से दूसरे इंसान तक तेजी से फैलता है, पर फेफड़ों को उतना नुकसान नहीं पहुंचाता जितना डेल्टा या पिछले कोरोना वैरिएंट्स ने पहुंचाया है।

केंद्र सरकार साल के अंत तक कोरोना वैक्सीनेशन प्लान का रिव्यू करेगी। सरकार ने दिसंबर अंत तक ही देश की 65% वयस्क आबादी को दोनों डोज लगाने का लक्ष्य तय किया है। केंद्र सरकार के रिव्यू में बच्चों को वैक्सीन लगाने और बड़ों को बूस्टर डोज देने पर चर्चा की जाएगी।

और पढ़ें  दो कार की आपसी टक्कर में 5 लोग घायल।

एक अधिकारी ने बताया कि दिसंबर अंत तक ओमिक्रॉन को लेकर हालात साफ हो जाएंगे। फिलहाल हमारी प्राथमिकता यह है कि वयस्कों में दूसरे डोज की कवरेज को बढ़ाया जाए। इसमें वे लोग भी शामिल होंगे जो रिस्क पर हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, बुधवार तक देशभर में 135 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं। 87.5% लोगों को पहला डोज मिल गया है, जबकि 56% लोगों को दोनों डोज लग चुकी हैं।

महाराष्ट्र में जनवरी में केस बढ़ने की आशंका; मुंबई में 31 दिसंबर तक धारा 144 लागू की महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के मामले बढ़कर 32 हो गए हैं। राज्य के अतिरिक्त प्रमुख स्वास्थ्य सचिव डॉ. प्रदीप व्यास ने बुधवार को बताया कि जनवरी में ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामलों में इजाफा हो सकता है। इसी को देखते हुए मुंबई में न्यू ईयर ईव तक धारा 144 लगाई गई है।

ब्रिटेन में एक ही दिन में 78 हजार से ज्यादा नए के ब्रिटेन में एक बार फिर से कोरोना महामारी विस्फोटक स्थिति में बढ़ती दिख रही है। बुधवार को ब्रिटेन में कोरोना के 78,610 नए केस दर्ज हुए। ओमिक्रॉन वैरिएंट के खतरे के बीच ये अब तक के सबसे अधिक मामले हैं। इससे पहले महामारी की दूसरी लहर के दौरान जनवरी में एक दिन में करीब 68 हजार केस दर्ज किए गए थे।

बता दें कि ब्रिटेन में अभी तक 1.10 करोड़ से अधिक की आबादी कोरोना की चपेट में आ चुकी है, जबकि वहां की कुल आबादी 6.70 करोड़ है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ओमिक्रॉन वैरिएंट की दस्तक के बीच बहुत खतरनाक स्थिति की चेतावनी जारी कर दी है। ब्रिटे मात्र ऐसा देश है जहां ओमिक्रॉन से मरीज की मौत हुई है।

और पढ़ें  जमीन फर्जीवाड़े में इंस्टिट्यूट के डारेक्टर को 24 लाख का चूना।

कुल आबादी 0.70 करोड़ हा ब्रिटन के प्रधानमंत्री बारिस जॉनसन ने ओमिक्रॉन वैरिएंट की दस्तक के बीच बहुत ही खतरनाक स्थिति की चेतावनी जारी कर दी है। ब्रिटेन एक मात्र ऐसा देश है जहां ओमिक्रॉन से मरीज की मौत हुई है। मौजूदा बूस्टर डोज ओमिक्रॉन से लड़ने के लिए काफी: डॉ. एंथनी फॉसी अमेरिका के चीफ मेडिकल एडवाइजर डॉ. एंथनी फॉसी ने बुधवार को कहा कि मौजूदा बूस्टर शॉट्स ओमिक्रॉन के खिलाफ भी काम करेंगे। नए वैरिएंट के लिए अलग से बूस्टर डोज तैयार करने की जरूरत नहीं है। फॉसी ने कहा कि फाइजर और बायोएनटेक के दो डोज इस वैरिएंट के खिलाफ काफी सुरक्षा प्रदान करता है।

सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की डायरेक्टर रोशेल वॉलेन्स्की ने बताया कि अमेरिका में करीब 36 राज्यों और दुनिया में 75 से ज्यादा देशों में ओमिक्रॉन के मामले सामने आए हैं। अमेरिका में कोरोना के कुल केस में 3 फीसदी ओमिक्रॉन के हैं।

दक्षिण अफ्रीका में भी कोरोना के नए मामलों ने डराया दक्षिण अफ्रीका में भी कोरोना के नए केस डराने लगे हैं। यहां बुधवार को एक दिन में 26,976 केस सामने आए हैं। इससे पहले यहां तीसरी लहर के दौरान जुलाई में 26^^5 संक्रमित मिले थे। दक्षिण अफ्रीका में ही कोरोना क.. वैरिएंट ओमिक्रॉन पहली बार मिला था। नया वैरिएंट तेजी से फैल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.