द्रौपदी का डांडा हिमस्खलन में अब तक 16 शव बरामद, 13 अभी लापता।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/ उत्तरकाशी: द्रौपदी का डांडा (डीकेडी) चोटी पर हुए हिमस्खलन (एवलांच) में फंसे नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) के 27 प्रशिक्षु पर्वतारोही दल के सदस्यों के बचाव के लिए आज गुरुवार को भी खोज अभियान चलाया गया। निम और एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीम ने आज 12 शव बरामद कर दिए हैं। अभी तक 16 शव बरामद हो चुके हैं। 13 पर्वतारोही अभी लापता हैं।

हिमस्खलन में लापता हुए प्रशिक्षु पर्वतारोहियों के बचाव के लिए जम्मू कश्मीर के हाई एल्टीट्यूड वारफेयर स्कूल गुलमर्ग की रेस्क्यू टीम पहुंची है। इस टीम को द्रौपदी डांडा के बेस कैंप क्षेत्र में उतारा गया।

और पढ़ें  संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं तो अपना प्लाज्मा दान करें: सीएम

सरकारी सूत्रों ने बताया कि आज को 12 शव उक्त रेस्कयू टीमों द्वारा बरामद किया गया है। अब तक 16 शव बरामद हुये हैं। बरामद शवों में से केवल दो शवों की शिनाख्त हो पाई हैं, जो निम की महिला प्रशिक्षक हैं।

खराब मौसम भी रेस्क्यू ऑपरेशन में खलल डाल रहा है। बारिश होने पर रेस्क्यू ऑपरेशन रोकना पड़ रहा है। बता दें कि ये घटना मंगलवार को हुई थी। जिसके बाद से लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. तब पर्वतारोही पर्वतारोहण के लिए गए थे।