मुनिकीरेती में हुई घटना: जीएमवीएन के कमरे में लगी आग।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र ऋषिकेश: आज सुबह तड़के गढ़वाल मंडल विकास निगम के मुनिकीरेती स्थित गंगा रिजोर्ट अतिथि गृह के एक कमरे में अचानक आग लग गई। कमरे के भीतर दो बच्चों सहित चार पर्यटक रुके थे। किसी तरह से चारों पर्यटकों ने स्वयं को सुरक्षित बाहर निकाला। कमरा पूरी तरह से जल गया। दुर्घटना का कारण एसी के भीतर खराबी बताया जा रहा है।
जीएमवीएन के गंगा रिसोर्ट अतिथि गृह में एक कमरे में रोहिणी दिल्ली निवासी तनुज चौधरी अपने परिवार सहित रुके हुए थे। कमरे में दंपति और उनके दो बच्चे सोए हुए थे। रविवार की अल सुबह करीब तीन बजे अचानक कमरे में जब धुआं भर गया तो परिवार के सदस्य जाग गए।

और पढ़ें  एक हफ्ते और बढ़ा कोरोना कर्फ्यू, स्पा, शैलून खोलने का लिया निर्णय।

रात्रि ड्यूटी कर्मचारी को सूचना दी गई। जिसके बाद कमरे में ठहरे सभी लोग सुरक्षित बाहर आ गए। कमरे के भीतर आग तेजी के साथ फैल गई। यह कमरा गंगा लाइन में स्थित है। आग के दबाव के कारण कमरे के शीशे भी टूट गए। आग से बाल-बाल बचे परिवार के सभी सदस्य सदमे में नजर आए।इनका कहना है कि इतनी बड़ी घटना होने के बाद सुबह सात बजे तक कोई जिम्मेदार अधिकारी यहां नहीं पहुंचा। उनका यह भी आरोप है कि अतिथि गृह में फायर अलार्म सिस्टम भी काम नहीं कर रहा है। प्रबंधक आरपी ढोंडियाल के मुताबिक अतिथि गृह के भीतर अपना फायर कंट्रोल सिस्टम है, जिसके जरिए आग पर काबू पा लिया गया। कमरे के भीतर सामान क्षतिग्रस्त हुआ है जबकि पर्यटक सहित उनके सामान को सुरक्षित निकाल लिया गया। गढ़वाल मंडल विकास निगम का गंगा रिजोर्ट ऐसा आधुनिक अतिथि गृह है जो उत्कृष्ट पर्यटक आवास गृह के रूप में पहचान रखता है। प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय योग सप्ताह का आयोजन भी यहां किया जाता है। ऐसे अतिथि गृह के एसी में खराबी के कारण आग लगने की घटना ने यहां की व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *