पुलिसकर्मियों की पिटाई की फर्जी वीडियो वायरल, आरोपित गिरफ्तार।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/ हरिद्वार: रंजिश के चलते दरगाह के सालाना उर्स को बदनाम करने के लिए एक युवक ने पुलिसकर्मियों की पिटाई की फर्जी वीडियो वायरल कर डाली। जांच में वीडियो फर्जी पाए जाने पर पुलिस ने साजिशकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है।
हरिद्वार में पथरी क्षेत्र के जंगल में काठा पीर दरगाह पर पिछले पांच दिन से सालाना उर्स चल रहा था। इस अवसर पर लगे मेले में दुकानें और झूले-सर्कस भी लगाए गए थे। उर्स और मेले में बड़ी संख्या में सर्व धर्म के श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया। शनिवार को एक युवक ने अपने फेसबुक अकाउंट से एक वीडियो वायरल की, जिसमें कुछ लड़के पुलिसकर्मियों की पिटाई करते नजर आए। इस वीडियो को युवक ने काटा पीर दरगाह की वीडियो बताकर वायरल कर दिया। वीडियो वायरल होने पर पुलिस हरकत में आ गई। जांच की तो पता चला कि वीडियो किसी दूसरे प्रदेश का है। इस पर पुलिस ने वीडियो वायरल करने वाले शौकीन निवासी सिद्डू लक्सर को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला कि शौकीन का मेला लगवाने वाले दूसरे पक्ष से कोर्ट में विवाद चला आ रहा है। इसी के चलते दोनों में रंजिश बनी हुई है। शौकीन ने उस को बदनाम करने के लिए पुलिसकर्मियों की पिटाई की फर्जी वीडियो वायरल कर दी थी। पथरी थानाध्यक्ष रविंद्र कुमार ने बताया कि पांच दिन तक चले उर्स और मेले को पुलिस ने पूरी मेहनत कर सकुशल संपन्न कराया है। कुछ लोगों ने रंजिश के तहत साजिश रचकर इस मेले की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है। फर्जी वीडियो वायरल करने वाले मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। साजिश में और कौन-कौन लोग शामिल है, इस बारे में भी जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.