मृतकों के परिजनों को दिया जायेगा 4-4 लाख का मुआवजा:मुख्यमंत्री

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

मीडिया की प्रशंसा की, अफवाहों को फैलने नही दिया

देहरादून: आज जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने से हुई तबाही की मुख्यमंत्री ने प्रेस वार्ता में पूरी स्थिति की जानकारी दी,, साथ ही मृतकों के परिजनों को 4- 4 लाख रूपये देने की घोषणा भी की,,
गंगा प्रोजेक्ट में 35 लोग काम करते थे, 4 पुलिस जवान भी वहां ड्यूटी पर थे, लोग ओर जवान दोनों मिसिंग है,, 7 शवो को रेस्क्यू किया गया है

176 मजदूर ड्यूटी के लिए निकले थे,

और पढ़ें  राज्य का NABH से प्रमाणित पहला राजकीय चिकित्सालय।

एक टनल में 15 लोग थे,

दूसरी टनल में भी कई लोग थे,

कुछ ndrf की टीमें ओर कल पहुंचेंगी,

दूसरी टनल में लगभग 35 लोग काम पर थे, वहां पर रेस्क्यू कार्य जारी है,

इस टनल में 40 फिट के करीब मलवा भरा हुआ था,

अंदर फंसे मजदूरों से सम्पर्क नही हो पाया है

रैणी गांव में एक मोटरेबल, 4 झूला पुल टूट गए है,

आपदाग्रस्त गांव के लिए आर्मी के 3 हेलीकॉप्टर भेजे गए,

मेडिकल टीम को तैयार किया गया है,

और पढ़ें  पद्म श्री अनुराधा पौडवाल ने मुख्यमंत्री से की भेंट।

गोचर के 90 जवान और भेजे गए,

पीएम मोदी ने बात की, पूरा आश्वस्त किया हर संभव मदद की जाएगी,

ग्रह मंत्री, सीएम योगी, गुजरात, बिहार के सीएम ने भी राहत की बात कही,

अम्बानी के बेटे ने भी सहयोग की बात कही,

पंतजलि ने पूरा सहयोग देने की बात कही

मीडिया की प्रशंसा की, अफवाहों को फैलने नही दिया

मृतकों को 4 – 4 लाख का मुआवजा दिया जाएगा

180 भेद बकरियां भी इस आपदा में बह गए है,

और पढ़ें  सीएम ने राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर मीडिया प्रतिनिधियों को दी शुभकामनाएं।

रैणी गांव के 5 ग्रामीण भी आपदा में लापता है

सेना, हेलीकॉप्टर आदि सभी मदद के लिए तैयार है,

कारण क्या रहे आपदा के इसका आकलन विशेषज्ञ है

रुद्रप्रयाग से पीछे पानी साफ हो चुका है,
पानी का लेबल सामान्य है,
श्रीनगर के प्रोजेक्ट को खाली कर दिया गया था,

सरकार का ध्यान राहत और बचाव कार्यो पर ज्यादा है

अनुमान के तहत 125 से ज्यादा लोग मिसिंग है,
प्रोजेक्ट को कर रही कम्पनी ने भी अभी सही जानकारी नही दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.