सरकार के भ्रष्टाचार व प्रदेश के बाधित विकास कार्यों को सदन में मुखरता से उठाया : प्रीतम सिंह

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

गैरसैण : गत शनिवार उत्तराखंड कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार को नियम 310 के तहत सदन में प्रस्तुत करते हुए त्रिवेंद्र सरकार का घेराव किया। उन्होंने कहा कि जीरो टॉलरेंस का दावा करने वाली त्रिवेंद्र सरकार आज पूरी तरह से भ्रष्टाचार में संलिप्त है। आए दिन भ्रष्टाचार के नए मामले अख़बार की सुर्खियां बने रहते हैं। उन्होंने भाजपा पर एनएच -74, छात्रवृत्ति सहित विभिन्न घोटालों से जनता की गाढ़ी कमाई लूटने का आरोप लगाते हुए खेद जताया। साथ ही उन्होंने उत्तराखंड परिवहन निगम में कार्यरत व सेवानिवृत्त कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं पर नियम 300 के तहत विधानसभा सभा का ध्यान आकृष्ट किया।

और पढ़ें  चारधाम यात्रा के दृष्टिगत 30 अप्रैल तक सभी व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली जाए-मुख्यमंत्री

आगे अपनी बात रखते हुए प्रीतम ने कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश में जिला योजना कमेटी का गठन नहीं किया गया जिसके चलते ना तो स्वीकृत बजट का वितरण हो पाया। नतीजन क्षेत्र में कई विकास कार्य रुके हुए हैं। अगर कुछ किया गया है तो वो सिर्फ जनभावनाओं को आहत करने का सरकार द्वारा काम किया गया है।

और पढ़ें  बंगाली समाज के जाति प्रमाण पत्र से हटाया जायेगा ‘‘पूर्वी पाकिस्तान शब्द’’ - मुख्यमंत्री

प्रीतम सिंह ने सदन में सिंगटाली मोटर पुल निर्माण को गति प्रदान करने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि यह पुल गढ़वाल एवं कुमाऊं को जोड़ने वाले तथा 200 गांवों के यातायात को सुगम बनाने वाले बहुप्रतीक्षित सिंगटाली मोटर पुल निर्माण का मुद्दा नियम 53 के तहत सदन के पटल में प्रस्तुत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *