ग्रीष्मावकाश से पूर्व बड़ी धूमधाम से मनाया गया प्रतिभा दिवस।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून : उत्तराखंड के प्राथमिक विद्यालयों में माह के अंतिम शनिवार को प्रतिभा दिवस का कार्यक्रम किया जाता है चूंकि विद्यालयों में जून माह से ग्रीष्मकालीन अवकाश हो जाता है इसलिए मई माह में प्रतिभा कार्यक्रम अति विशिष्ट हो जाता है। अपर निदेशक प्राथमिक शिक्षा के आदेशानुसार प्रत्येक विद्यालय में शनिवार 21 मई को प्रतिभा दिवस से सम्बंधित कार्यक्रम आयोजित किये गए । जिसमें विद्यार्थियों की शैक्षिक प्रगति से अभिभावकों को अवगत कराने के साथ साथ शैक्षिक सामग्री की प्रदर्शनी, सांस्कृतिक कार्यक्रम के अलावा विद्यार्थियों के मध्य वाक, निबंध, कविता, अंताक्षरी, और खेल कूद इत्यादि की प्रतियोगिताओं का आयोजान भी किया गया।


रा०प्रा०वि० गहड़ खिर्सू पौड़ी गढ़वाल में भी प्रतिभा दिवस बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विद्यालय प्रबंधन समिति की सदस्य पिंकी पंवार एवं सेवित क्षेत्र की सबसे बुजुर्ग महिला मंगना देवी रही। इस अवसर पर विद्यालय प्रांगण में विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताएं एवं शिक्षाप्रद कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने स्वरचित कविताएं पढ़ी और सस्वर गायन भी किया। विद्यार्थियों द्वारा स्वनिर्मित सामग्रियों की प्रदर्शनी ने सभी का मन मोह लिया। विद्यालय की शिक्षिका संगीता कोठियाल फरासी ने बताया कि शिक्षकों ने विद्यार्थियों की माताओं का सम्मान किया और उन्हें उनके बच्चों की प्रगति के विषय में बताया एवं ग्रीष्मावकाश हेतु दिए जाने वाले कार्य के बारे में जानकारी दी।