सरकारी नौकरी के नाम पर 36 लाख हड़पने वाला गिरफ्तार, भेजा जेल।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


संवादसूत्र देहरादून/रुद्रपुर: खटीमा में सरकारी नौकरी के नाम पर 10 लोगों से 36 लाख हड़पने के आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान उसके पास से पुलिस को उत्तराखंड सरकार का बोर्ड व हूटर लगा एक इनोवा कार, फर्जी नियुक्ति प्रमाण पत्र, कई लोगों के शैक्षणिक प्रमाण पत्र की छायाप्रति बरामद हुए हैं। बाद में पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है। साथ ही उसके साथ किसी और की संलिप्तता तो नहीं थी, इसकी भी जानकारी पुलिस जुटा रही है।
एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि ग्राम खेतलसंडा खटीमा निवासी सुरेश चंद्र ने शिकायत की थी कि उसकी मुलाकात मनोज रावत उर्फ बाबी रावत के माध्यम से ग्राम नौसर खटीमा निवासी अजय साहनी से हुई थी। इस दौरान अजय साहनी ने उससे कहा कि उनका कोई रिश्तेदार है तो वह उसे सरकारी नौकरी में लगा देंगे। इस पर उसने अपने 10 रिश्तेदार एकत्र किए। इनमें से अजय साहनी ने उसके दो रिश्तेदार को सरकारी नौकरी और आठ को संविदा नौकरी लगाने की बात की और 36.50 लाख रुपये गौतमी हाइटस होटल काशीपुर में दिए। इसके बाद उसके रिश्तेदार सिंचाई, शिक्षा समेत अन्य विभागों में नियुक्ति पत्र लेकर गए तो पता चला कि नियुक्ति पत्र फर्जी है। इस पर उन्होंने अजय साहनी से रुपये वापस मांगे तो वह फरार हो गया था। एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि मामले में पुलिस ने आरोपित के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी थी। सोमवार को सूचना मिली कि अजय साहनी की लोकेशन खटीमा में है। जिसके बाद सीओ खटीमा वीर सिंह, कोतवाल नरेश चौहान, एसएसआइ अशोक कुमार, एसआइ पंकज महर पुलिस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि इस दौरान उसके पास उत्तराखंड सरकार का बोर्ड व हूटर लगा इनोवा कार तथा अलग अलग विभागों के फर्जी नियुक्ति प्रमाण पत्र, शैक्षणिक प्रमाण पत्र की छायाप्रति बरामद हुई। पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

एसपी सिटी मनोज कुमार कत्याल ने बताया कि गिरफ्तार अजय साहनी अब तक 35 लोगों से 70 लाख से अधिक की ठगी कर चुका है। इसमें 10 लोगों से जहां 36.50 लाख की धोखाधड़ी की है। वहीं इससे पहले भी उसने 14-15 लोगों से करीब 35 लाख की सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी कर चुका है। उस मामले में भी खटीमा में मुकदमा दर्ज है। बताया कि पुलिस उस पर और कहां कहां मुकदमे दर्ज हैं, इसका भी पता लगा रही है।

और पढ़ें  लापता 11 वीं के छात्र का शव मोहम्मदपुर झाल से बरामद।

एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि आरोपित अजय साहनी को पुलिस गैंगस्टर में निरुद्ध करेगी। साथ ही पता लगाया जा रहा है कि लोगो से ठगी कर उसने कितनी संपत्ति जोड़ी है। जिसके बाद उसकी संपत्ति जब्त करने के साथ ही ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए खटीमा पुलिस को आदेश दिए गए हैं।