डॉपलर रडार से मिल रही आपदा से निपटने में मदद।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

सचिव आपदा प्रबंधन विभाग ने राज्य में स्थापित होने वाले डॉपलर रडार (सुरकंडा एवं लेन्सडाउन )की प्रगति के सन्दर्भ में ली बैठक

संवादसूत्र देहरादून: उत्तराखंड राज्य आपदाओं के प्रती अत्यंत संवेदनशील है, बेहतर तकनीकी के माध्यम से इससे होने वाली क्षती को कम किया जा सकता है। इसी बात को ध्यान मे ऱखते हुए उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, आपदा विभाग द्वारा मौसम विभाग भारत सरकार के साथ सामंजस्य स्थापित कर के राज्य के सुरकंडा, टिहरी तथा लैंसडाउन, पौड़ी गढ़वाल मे डॉपलर रडार स्थापित कर रहा है। विगत मे मुकतेश्वर, नैनीतल मे डॉपलर स्थापित हो गया है और इससे लगातार मौसम संबंधित डाटा प्राप्त हो रहा है। जो की राज्य एवं जनपद प्रशासन द्वारा आपदा पूर्व सफल निर्णय लेने मे कारागार साबित होगा।

और पढ़ें  सदन में हंगामे के बीच हुई कई योजनाओं की घोषणा।

श्री एस ए मुरूगेशन, सचिव आपदा प्रबंधन विभाग ने मौसम विभाग के प्रभारी निदेशक श्री रोहित थपलियाल से डॉपलर रडार सुरकंडा, टिहरी साइट की कार्य प्रगती के बारे मे विस्तृत चर्चा करते हुए एयर लिफ्टिंग के माध्यम से रडार के उपकरणो को सुरकंडा साइट पर जल्द से जल्द पहुंचाने के कार्य को गति देने पर बल दिया जिससे की जल्द से जल्द निर्माण कार्य को गती मिलेगी। उन्होंने आश्वासन दिलाया की आपदा विभाग मौसम विभाग को पूरा सहयोग देगा

और पढ़ें  नौकरी से निकाले जाने पर टंकी पर चढ़े कर्मचारी।

साथ ही साथ सचिव, आपदा प्रबंधन ने डॉपलर रडार लैंसडाउन साइट के लिए राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, मौसम विभाग के अधिकारियों को साइट पर जाने के निर्देश दिए है ताकि डॉपलर रडार लैंसडाउन को स्थापित करने का कार्य भी जल्द शुरू किया जाये। ये डॉपलर रडार आपदा के समय त्वरित प्रतिवादन करने के लिए जरूरी निर्णय मे अहम भूमिका निभाते हैँ जिससे आपातकालीन स्तिथि मे जान माल की क्षती को न्यून किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *