उत्तराखंड को बुलंदियों पर ले जाना है मेरा ध्येय : यज्ञ।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: बालीवुड में अपनी खास पहचान बना चुके बाल कलाकार यज्ञ भसीन ने शुक्रवार को उत्तरांचल प्रेस क्लब की ओर से आयोजित कार्यक्रम में प्रेस के साथ अपने फिल्मी सफर के अनुभव साझा किए, 12-वर्षीय यज्ञ मूलरूप से लक्सर (हरिद्वार) के रहने वाले हैं और वर्तमान में मुंबई में रह रहे हैं। उनका परिवार वर्ष 2017 में मुंबई शिफ्ट हो गया था। यज्ञ वहीं सेंट एग्नस इंग्लिश हाईस्कूल भायेंद्र में आठवीं के छात्र हैं।
यज्ञ के पिता दीपक भसीन बताते हैं कि छह साल पहले यज्ञ टीवी पर एक हालीवुड फिल्म देख रहा था। अचानक उसे न जाने क्या सूझा कि खुद भी एक्टर बनने की जिद करने लगा। उस दिन हमने उसकी बात को गंभीरता से नहीं लिया, लेकिन वह रोज यही जिद करता था कि उसे भी टीवी पर आना है। तब हम लोग नैनीताल में रहते थे। मैं नैनीताल हाईकोर्ट में सेक्शन आफीसर था और यज्ञ की मां सोनिया भसीन का वहीं घर पर ही ब्यूटी सैलून था। आखिरकार यज्ञ की जिद के आगे मुझे झुकना पडा़। मैंने नौकरी से इस्तीफा दे दिया और सोनिया ने सैलून बंद कर दिया। इसके बाद हम मुंबई शिफ्ट हो गए।
यज्ञ कहते हैं कि किस्मत उनके साथ थी, मुंबई पहुंचते ही उन्हें फिल्म ‘पंगा’ में काम करने का मौका मिल गया। इस फिल्म में उन्होंने कंगना रणौत व जस्सी गिल के बेटे का रोल प्ले किया। इसके बाद बालाजी टेली फिल्म्स के बैनर तले एकता कपूर के धारावाहिक ‘ये हैं चाहते’ में उन्हें टाइटल रोल मिला। स्टार प्लस पर प्रसारित इस धारावाहिक में उन्होंने सारांश खुराना की भूमिका निभाई। पूरे एक साल उन्होंने इस धारावाहिक में काम किया। इस बीच उन्हें फीचर फिल्म ‘बाल नरेन’ (Bal Naren) से आफर मिला तो धारावाहिक छोड़ना पडा़। बताते हैं कि स्वच्छता अभियान पर केंद्रित इस फिल्म में उन्होंने बाल नरेन का किरदार निभाया है। वह फिल्म में टाइटल रोल में हैं।
बताया कि सोहम राक स्टार के बैनर तले बनी इस फिल्म के निर्देशक पवन नागपाल हैं। फिल्म में रजनीश दुग्गल, विदिता बाग व बिंदु दारा सिंह अहम भूमिकाओं में हैं। फिल्म अगस्त मध्य में रिलीज होगी। अब उन्हें फीचर फिल्म ‘बिस्वा’ में टाइटल रोल मिला है। इसमें वह ओडिशा के एक छोटे से गांव के बच्चे बिस्वा का रोल प्ले कर रहे हैं। यह बच्चा ब्लाइंड है और पैरालंपिक में पदक जीतकर गांव के अन्य बच्चों की प्रेरणा बनता है। फिल्म के निर्माता-निर्देशक लीला माधव पांडा है। वर्ष 2011 में पांडा ‘आई एम कलाम’ जैसी फिल्म का निर्देशन कर चुके हैं। यज्ञ कहते हैं कि उनका एकमेव ध्येय उत्तराखंड का नाम बुलंदियों पर पहुंचाना है।
इससे पहले प्रेस क्लब के महामंत्री ओपी बेंजवाल, संयुक्त मंत्री दिनेश कुकरेती व सदस्य राजकिशोर तिवारी ने यज्ञ और उनके पिता दीपक भसीन का पुष्प कली भेंटकर स्वागत किया। उन्होंने सम्मान स्वरूप यज्ञ को स्मृति चिह्न व प्रेस क्लब की डायरी भी भेंट की। इस मौके पर क्लब के कोषाध्यक्ष नवीन कुमार, सदस्य राजेश बड़थ्वाल, वरिष्ठ पत्रकार सतीश शर्मा, हिमांश जोशी आदि मौजूद रहे।