स्कूल में शिक्षक के सात बच्चों के बाल काटने की शिकायत,पुलिस ने शिक्षक को लिया हिरासत में।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/रुड़की: रुड़की विकास खंड के करौंदी गांव स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में एक शिक्षक ने सात बच्चों के बाल कैंची से काट दिए। इस पर अभिभावकों ने स्कूल पहुंचकर जमकर हंगामा किया। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शिक्षक को हिरासत में ले लिया है। वहीं इस मामले में कार्रवाई करने की मांग को लेकर अभिभावक थाने में भी हंगामा कर रहे हैं।

रुड़की विकास खंड के करौंदी गांव में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय है। यहां पर सोमवार को एक शिक्षक ने बच्चों के बाल बड़े होने पर उनको फटकार लगाई। बच्चों ने शिक्षक को बताया कि वह घर जाकर बाल को कटवा लेंगे। इसी बीच शिक्षक को पता नहीं क्या सूझी, उसने सात बच्चों को कक्षा से बाहर बुलाकर बारी-बारी से कैंची से उनके बाल काट गए। दोपहर के समय स्कूल की छुट्टी हो गई और बच्चे घर चले गए। बच्चों ने इस बात की जानकारी अभिभावकों को दी। इस पर अभिभावकों में रोष उत्पन्न हो गया। वह स्कूल में पहुंचे लेकिन तब तक शिक्षक जा चुके थे। मंगलवार को सुबह जैसे ही स्कूल खुला तो अभिभावकों ने स्कूल में पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि शिक्षक को कोई अधिकार नहीं है कि इस तरह से बच्चों को अपमानित करते हुए उनके सरेआम बाल काट दे। हंगामा होने की सूचना पाकर भगवानपुर थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने आरोपित शिक्षक को हिरासत में ले लिया। पुलिस शिक्षक को थाने में ले आई। बाद में अभिभावक भी बच्चों को साथ लेकर थाने में पहुंच गए। यहां पर उन्होंने हंगामा करते हुए शिक्षक के खिलाफ मुकदमा लिखे जाने की मांग की। साथ ही इस संबंध में तहरीर दी है। वहीं थाना प्रभारी अमरजीत सिंह ने बताया कि मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है।

और पढ़ें  राज्य में बढ़ते मामलों से लग सकता है कोरोना प्रतिबंध।