दारोगा भर्ती मामले में पंतनगर विश्वविद्यालय के स्टाफ पर भी कसेगा शिकंजा।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


संवादसूत्र देहरादून: 2015 दरोगा की सीधी भर्ती मामले में पंतनगर विश्वविद्यालय का स्टाफ भी विजिलेंस के शिकंजे में फंसता नजर आ रहा है। विजिलेंस के निदेशक अमित सिन्हा ने बताया कि जांच में जानकारी मिली है कि विश्वविद्यालय की ओर से कुछ ओएमआर शीट नष्ट की गई हैं। यह ओएमआर शीट किस नियमानुसार नष्ट की गई इसकी जांच की जा रही है। इसके अलावा 2015 से पहले हुई भर्तियों की ओएमआर शीट विवि में सुरक्षित है। हालांकि उन्होंने यह भी बताया कि विजिलेंस के पास दरोगा भर्ती की ओएमआर शीट की फोटो प्रतिलिपि सुरक्षित है। इसके अलावा कई साक्ष्य विसिलेंस के पास मौजूद हैं, जिनके आधार पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।