ग्रामीणों के सवालों पर आपा खो बैठे लैंसडौन विधायक

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

धूरा मोटर मार्ग पर सफर हुआ आसान

लैंसडौन : लैंसडौन विधानसभा के अंतर्गत रिखणीखाल प्रखण्ड के रजबो धूरा मोटर मार्ग का आज क्षेत्रीय विधायक महंत दिलीप सिंह रावत ने शिलान्यास किया। जिस में क्षेत्र के अनेकों बुद्धजीवी व सम्बंधित विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे। इस सड़क की मांग ग्रामीण विगत 17 वर्षों से कर रहे थे। पूर्व में यह सड़क ग्रामीणों के भूमि आवंटन न करने की वजह से अधूरे में लटक गया था। आखिर 17 वर्षों का सूखा खत्म हुआ और आज वह एतिहासिक पल आया कि दुरस्त गाँव को सड़क से जोड़ा जा रहा हैं।
इस बीच विधायक ने क्षेत्र की जनता से सवाल जवाब किया और यदि किसी को खुले पंच से अपनी बात रखनी हैं तो मंच पर आमंत्रित किया। जिस में क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता देवेश आदमी में अपने गाँव कोटड़ी में पेयजलापूर्ति की बात रखी। गौरतलब हो कि ग्रामसभा कोटड़ी वासी विगत अनेकों वर्षों ने पानी की मांग कर रहे हैं गाँव में मार्च से जुलाई तक पानी नही आता हैं विभाग ग्रामीणों के लिए पानी टैंकर से उपलब्ध कराता हैं यह पीने योग्य पानी अनेकों गाड़ गदेरों से आता हैं जिस कारण ग्रामीणों को पीलिया,डायरिया,टाइफाइड जैसे अनेकों रोग लग जाते हैं। देवेश आदमी ने विधायक को इस बात से अवगत कराया कि विगत 8 वर्षों में ग्राम डबराड़ से 3 बार ग्रामीण पानी की योजना हेतु NOC लेकर आचुके हैं बावजूद इस के गाँव में पानी नही आया। विधायल जी को इस ओर भी ध्यान दिलाया गया कि विगत 4 वर्षों में आप के द्वारा हर बार अगले वर्ष का आस्वासन दिया गया मगर वह अगला वर्ष आज तक नही आया। ग्रामसभा कोटड़ी में जो पानी टैंकर से उपलब्ध कराया जाता हैं वह इतना होता हैं कि ग्रामीणों के मवेशियों को उपलब्ध नही होता जिस कारण पशुपालकों का व्यवसाय खतरे में पड़ गया हैं। ग्रीष्मकालीन शादी समारोह के मौकों पर ग्रामीणों को इस कारण बहुत दिक्कतें आती हैं। ग्रामसभा कोटड़ी के अन्तर्ग 1 कन्या माध्यमिक विद्यालय 1 प्राथमिक विद्यालय उत्तराखंड ग्रामीण बैंक कृषि विभाग कार्यालय जैसे अनेकों सरकारी गैरसरकारी संस्थान आते हैं जिन के कर्मचारियों को गर्मियों में दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं। देवेश आदमी ने ग्रामीणों के हवाले से क्षेत्रीय विधायल को इस बात की चेतावनी दी कि यदि हमें मार्च 2021 तक पानी योजना पर ठोस कार्यवही नही दिखी तो हम चुनाव बहिष्कार व सरकार से टकराव का रास्ता चुनेंगे।
आमतौर पर शांत रहने वाले क्षेत्रीय विधायक को एक समाज सेवी की बात से इतना गुस्सा आया कि मैं मंच से ही बोल पड़े जो कहते हैं वे करते नही ओर जो करते हैं वे कहते नही। महंत दिलीप सिंह रावत जी अपनी योजनाओं का बखान करते हुए कहते हैं कि देवेश आदमी आम आदमी पार्टी वाला हैं इस लिए आज मेरे ही पंच से मुझे ललकार रहा हैं।
सोचनीय बात यह हैं कि यदि कोई ग्रामीण अपने गाँव में किसी मूलभूत सुविधाओं की मांग कर रहा हैं तो उसे दसूरी पार्टी का बोल कर क्यों धुतत्कारा जाता हैं क्यों विधायक दिलीप सिंह रावत ऐसा सोचते हैं कि जिस गाँव से वोट कम मिले हैं उस गाँव को विकास योजनाओं से दूर रखना हैं। समाज सेवी देवेश आदमी व विधायक के मध्य अनेकों बार मंच पर विकास योजनाओं में अनियमितता व गुणवत्ता हेतु नोकझोंक देखी गई हैं जिस ने आज गुबार छोड़ दिया। बहुत देर तक मंच पर दोनों वक्ताओं के मध्य नोकझोंक होती रही मगर विधायक ने कोटड़ी ग्राम वासियों को कोई निश्चित समय नही बताया कि गाँव में पानी का सूख कब दूर होगा। अंत में विधायक द्वारा देवेश आदमी को किसी अन्य पार्टी से पोषित होकर नकार दिया। इस तरह की यह क्षेत्र में पहली घटना नही हैं सवाल पूछने वालों को उल्टा सवाल पूछना व अन्य पार्टी से पोषित होना बताकर क्षेत्र के विधायक हमेशां बचते रहे हैं। अब ग्रामसभा कोटड़ी के लोग एक बैठक बुलाकत आगे की योजना पर बात करेंगे सम्भवतः बैठक में ग्रामीण 2022 चुनाव बहिष्कार की योजना बना सकते हैं। जिस की चुनोती क्षेत्रीय विधायक को ग्रामीणों दिया हैं। इस तरह ग्रामीणों द्वारा बैठक से वॉकआउट किया गया जिस से एक बार पुनः विधायक की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लग गया।

और पढ़ें  कोसी व गौला नदी में चार युवक डूबे, दो के शव बरामद।