नौ दिवसीय पैदल यात्रा कर क्षेत्र का भूगोल जानेंगे जवान।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


संवादसूत्र देहरादून/ पिथौरागढ़: भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल की 14 वीं वाहिनी का ट्रैकिंग अभियान गुरूवार को शुरू हुआ। नौ दिवसीय ट्रैकिंग अभियान में बल के 15 जवान 80 किमी की पैदल यात्रा करेंगे। 14 वीं वाहिनी के उपसेनानी शैलेंद्र नोडियाल ने मुनस्यारी में ट्रैकिंग दल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ट्रैकिंग का उद्देश्य बल के जवानों को उच्च हिमालय की भौगाेलिक जानकारी देने के साथ ही जवानों को शारीरिक रूप से फिट रखने, जवानों को बदलते हालातों के अनुरूप खुद को ढालने की क्षमता का विकास करना है। ट्रैकिंग के दौरान जवान उच्च हिमालय में बसे गांवों के ग्रामीणों से मुलाकात करेंगे और उन्हें महत्वपूर्ण जानकारियां देने के साथ ही देशहित के कार्यों में बढ़चढ़ कर भागीदारी के लिए प्रेरित करेंगे। क्षेत्र का भूगोल समझाने की मंशा को लेकर आयोजित ट्रैकिंग संभावित आपदा और राहत कार्य तेजी से संपन्न कर सकेंगे। इसेस जवानों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे बेहतर ढंग से अपने दायित्वों का निर्वहन कर सकेंगे। ट्रैकिंग शुभारंभ अवसर पर सहायक सेनानी तेजवीर सिंह, निखिल कुमार सहित बल के तमाम अधिकारी मौजूद रहे।