पाकिस्तान से गुब्बारों के साथ उड़कर आया पाकिस्तानी झंडा व बैनर।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/ उत्तरकाशी : सीमांत जनपद उत्तरकाशी के तुल्याडा गांव के पास झाड़ियों में पाकिस्तानी झंडा, लाहौर बार एसोसिएशन का बैनर और एक मोटी रस्सी से बंधे 100 से अधिक गुब्बारे पाकिस्तान के लाहौर से ही उड़कर आए। 27 दिसंबर को एक पाकिस्तानी नागरिक ने इंटरनेट मीडिया में लाहौर बार एसोसिएशन के क्रिकेट कार्यक्रम की फोटो व वीडियो पोस्ट की है। जिसमें इसी गुब्बारों के साथ पाकिस्तानी झंडा, लाहौर बार एसोसिएशन का बैनर उड़ाया जा रहा है।
सुरक्षा एजेंसियों की जांच के बाद अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है। इसी घटना से उत्तरकाशी में काफी हड़कंप मचा हुआ था। पाकिस्तान के लाहौर से उत्तरकाशी तक झंडे और गुब्बारे पहुंचने का कारण पश्चिमी विक्षोभ (वेस्टर्न डिस्टरबेंस) ही माना जा रहा है। परंतु लाहौर से उत्तरकाशी तक करीब पांच सौ किलोमीटर उड़कर आने वाले गुब्बारों के साथ बैनर, झंडा व मोटी रस्सी के पहुंचने की घटना सामान्य घटना नहीं है।

जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर चिन्यालीसौड़ के तुल्याड़ा गांव के निकट बुधवार की शाम को ग्रामीणों ने सफेद और हरे रंग के गुब्बारों को देखा। वीरवार को जब ग्रामीण निकट पहुंचे तो उसमें पाकिस्तान का झंडा और एक बैनर जिसमें उर्दू और अंग्रेजी में लाहौर बार एसोसिएशन लिखा देखा। करीब 100 से अधिक गुब्बारे एक मोटी रस्सी से बंधे हुए मिले। इनमें कुछ गुब्बारों की हवा निकल चुकी है। जिसके बाद स्थानीय खुफिया विभाग, केंद्रीय एजेंसियों ने पड़ताल शुरू की। उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी ने कहा कि गुब्बारे और पाकिस्तानी झंडा मिलने पर उन्होंने उच्च अधिकारियों से बात की थी। जिसमें कुछ जानकारों ने पश्चिमी विक्षोभ का कारण माना था। इसकी पुष्टि हो चुकी है कि गुब्बारों से बंधा पाकिस्तानी झंडा, लाहौर बार संघ का बैनर पाकिस्तान से ही उड़कर आया है। करीब एक सप्ताह पहले पाकिस्तान में एक खेल कार्यक्रम के दौरान उड़ाया गया था। जिसको पश्चिमी विक्षोभ के तूफान ने उत्तरकाशी तक पहुंचाया। सुरक्षा एजेंसियों की ओर से इसकी खास जांच पड़ताल की गई। जिसके बाद इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दी गई है।