“हिजाब” के अखाड़े में दंगल गर्ल।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

हिजाब खुदा की दी गई जिम्मेदारी, इसे मजहब और तालीम की चॉइस में न उलझाएं: जायरा वसीम

सँवादसूत्र देहरादून/मुम्बई(एजेंसी): इस्लाम के लिए तीन साल पहले फिल्म इंडस्ट्री छोड़ चुकीं दंगल गर्ल जायरा वसीम भी हिजाब विवाद में कूद गई हैं । जायरा ने सोशल मीडिया पर कर्नाटक में चल रहे हिजाब विवाद को लेकर अपनी बात रखी। जायरा ने कहा कि हिजाब पहनना खुदा की दी गई जिम्मेदारी है। इसे मजहब और तालीम की चॉइस में उलझाना सही नहीं है ।

सुविधा के हिसाब से यह धारणा बनाई जा रही है स्कूल-कॉलेजों में हिजाब का सपोर्ट करते हुए जायरा वसीम ने अपनी पोस्ट में लिखा- हिजाब एक चॉइस है, ये गलत जानकारी है। सुविधा के हिसाब से यह धारणा बनाई जा रही है। जायरा ने दो टूक कहा कि हिजाब कोई चॉइस नहीं बल्कि इस्लाम में यह खुदा के द्वारा दी गई एक जिम्मेदारी है। इसी तरह हिजाब पहनकर एक मुस्लिम महिला खुदा से मिली जिम्मेदारियों को पूरा करती है। वह अपने खुदा से प्यार करती है और ऐसा कर उसने खुद को ऊपर वाले को सौंप दिया है।

मैं भी एक महिला हूं और मैं सम्मान के साथ हिजाब पहनती हूं। मैं इस पूरे सिस्टम का विरोध करती हूं, जहां महिलाओं को धार्मिक परंपराओं को मानने से रोका और परेशान किया जा रहा है। मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ पक्षपात करना और ऐसा सिस्टम बनाना जहां उन्हें शिक्षा और हिजाब के बीच किसी एक को चुनना हो या फिर किसी एक चीज को छोड़ना हो, यह अन्याय है। आप उन्हें स्पेसिफिक चीजों को अपनाने पर मजबूर कर रहे हैं, जिनसे आपका एजेंडा चलता है और फिर उनकी आलोचना करते हैं कि वो आपके बनाए गए नियमों में कैद हैं।

और पढ़ें  उत्तराखंड के लोगों का सामर्थ्य, इस दशक को उत्तराखण्ड का दशक बनाएगा : प्रधानमंत्री ।

जायरा ने लिखा- यह उन लोगों के साथ पक्षपात नहीं तो क्या है? जो यह जता रहे हैं कि वो उनके (महिला) सपोर्ट में काम कर रहे हैं? इन सबसे ऊपर, एक मुखौटा बनाना कि यह सब सशक्तिकरण के नाम पर किया जा रहा है, ये और भी बुरा है, यह सब उसके बिल्कुल विपरीत है, मैं दुखी हूं।

जायरा ने 2019 में अचानक बॉलीवुड को अलविदा कहने का फैसला किया था। इसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए दी थी। उन्होंने लिखा कि, ‘पांच साल पहले मैंने एक फैसला लिया, जिसने मेरी जिंदगी बदलकर रख दी। बॉलीवुड में कदम रखते ही मुझे खूब पॉपुलैरिटी मिली, लेकिन मुझे इस क्षेत्र में काम करके खुशी नहीं मिली, क्योंकि यह मेरे धार्मिक विश्वासों में दखलअंदाजी कर रहा था।’

और पढ़ें  पहले श्रीराम के अस्तित्व को नकारा, अब राम-राम जप रहे: शिवराज सिंह।

जायरा ने आमिर खान स्टारर ‘दंगल’ से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म में उन्होंने पहलवान गीता फोगाट का किरदार निभाया था। इसके बाद वह ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ और ‘द स्काई इज पिंक’ में नजर आई थी। जायरा की ‘द स्काई इज पिंक’ उनके बॉलीवुड छोड़ने के फैसले के 4 दिन बाद रिलीज हुई थी।

और पढ़ें  चीन की घुसपैठ पर लगाम नहीं: चीन के 100 सैनिकों ने पिछले महीने उत्तराखंड के पास बॉर्डर क्रॉस किया।

क्या है हिजाब विवाद?

कर्नाटक के उड्डुपी जिले के एक कॉलेज में मुस्लिम छात्राओं को हिजाब पहनकर आने से रोकने के बाद विवाद शुरू हुआ था। इसके बाद यह विवाद राज्य के अन्य एरिया में भी फैल गया। हिंदू संगठनों से जुड़े छात्रों ने बदले में भगवा शॉल पहनकर हिजाब वाली छात्राओं को रोकना शुरू कर दिया। इसे लेकर हिंसक तनाव पैदा होने के बाद राज्य सरकार ने स्कूलों में सभी तरह के धार्मिक पहचान वाले कपड़ों के पहनने पर रोक लगा दी। कुछ लोगों ने कर्नाटक सरकार के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी है।

इसके बाद देश के कई अन्य राज्यों में भी हिजाब के कारण छात्राओं को कॉलेजों में एंट्री नहीं दिए जाने के विवाद सामने आए हैं। इसे लेकर देश के अलग-अलग हिस्सों से लगातार भड़काऊ बयान भी सामने आ रहे हैं। राजनेता भी अपने-अपने तरीके से बयान दे रहे हैं।