स्वीगी व जोमैटो की आड़ में बेच रहे थे स्मैक, पुलिस ने तीन को किया गिरफ्तार।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: स्वीगी व जोमैटो में डिलीवरी ब्वॉय की आड़ में स्मैक की सप्लाई करने वाले तीन आरोपितों को क्लेमेटॉउन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि टर्नर रोड निवासी नेहा ने जिम से उसका डेढ़ लाख रुपये का मोबाइल चोरी संबंधी शिकायत दर्ज करवाई थी। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरा के आधार पर आरोपित की पहचान जसबीर सिंह के रूप में की। सोमवार को पुलिस की ओर से आशारोड़ी चेक पोस्ट पर चेकिंग की गई। इस दौरान एक कार में तीन लोग सहारनपुर की तरफ से आते हुए दिखाई दिए।
पुलिस ने कार सवारों की तलाशी ली तो उनके पास से 70 ग्राम स्मैक और स्मैक बेचकर कमाई साढे तीन लाख रुपये बरामद हुए। पूछताछ में गांधी कॉलोनी देबबन्द जिला सहारनपुर निवासी नीरज कुमार ने बताया कि विशाल उसका बड़ा भाई है। सौरभ टीचर कॉलोनी देवबंद का रहने वाला है। आरोपित नीरज चंद्रबनी चौक स्थित एक जिम में ट्रेनर का काम करता है जबकि सौरव और विशाल स्वीगी और जोमैटो में डिलीवरी ब्वॉय का काम करते हैं। तीनों पिछले चार साल से देहरादून में रह रहे हैं पहले भी वहां चोरी के एक मामले में नेहरू कॉलोनी से जेल जा चुके हैं। जेल में उनकी मुलाकात कुछ नशा तस्करों से हुई जिनके संपर्क में आकर उन्होंने स्मैक तस्करी का काम शुरू कर दिया। स्वीगी और जोमैटो के डिलीवरी ब्वॉय पर किसी को शक नहीं होता इसकी आड़ में उन्होंने स्मैक की डिलीवरी करनी भी शुरू कर दी। आरोपी नीरज देवबंद से सस्ते दामों में इसमें खरीदकर देहरादून लाता था तथा नीरज और सौरव डिलीवरी बॉय बनकर स्मैक खरीददारों तक पहुंचाते थे। तीनों ने नशा बेचकर एक केटीएम बाइक, तीन स्प्लेंडर मोटरसाइकिल, पित्थुवाला में 25 लाख रुपये का एक प्लाट और एक कार खरीदी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.