एसटीएफ ने किया फर्जी आधार सेंटर का भंडाफोड़, सीएचसी के संचालक के साथ आपरेटर गिरफ्तार।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा बताया गया कि दिनांक 24-01-2023 को एसटीएफ को सूचना मिली थी कि ‘सेलाकुई क्षेत्र के अंतर्गत स्थित सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) में कई व्यक्तियों के जन्म प्रमाण पत्र फर्जी वेबसाइटों के आधार पर तत्काल तैयार किए जा रहे हैं. इन जाली जन्म प्रमाण पत्रों के आधार पर नए आधार कार्ड व अन्य पहचान पत्र बनाए जा रहे हैं। इस सूचना की तस्दीक के लिए एसटीएफ की एक टीम को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ श्री आयुष अग्रवाल द्वारा उचित दिशा निर्देश देकर तैयार किया गया। इस टीम के द्वारा ‘सेलाकुई क्षेत्र में जाकर जांच की गई तो पाया कि संबंधित आधार सेंटर इस प्रकार की गतिविधियों में लिप्त है। इस पर एसटीएफ टीम के द्वारा संबंधित सीएससी सेंटर में छापा मारकर उसके संचालक ऑपरेटर को गिरफ्तार किया गया। छापे के दौरान आधार सेंटर से कई व्यक्तियों के विभिन्न राज्यों के भिन्न भिन्न सरकारी चिकित्सालयों की गोहर के साथ जारी किए गए कई लोगों के फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बरामद किए गए। इसके अलावा 26 व्यक्तियों के आधार कार्ड भी बरामद हुए हैं।

गिरप्तार किये गये अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया गया कि उनके बिहार और झारखंड में कई व्यक्तियों के साथ संपर्क है, जिनके साथ बट्सअप पर गुप बनाया हुआ है, उन्हीं व्यक्तियों द्वारा पैसे लेकर इस काम के लिये फर्जी वेबसाइट तैयार की जाती है उन वेबसाइट पर किसी व्यक्ति का नाम, पता, उम्र च जन्मस्थान, जनपद का नाम भरने के बाद उस जनपद के किस राजकीय चिकित्सालय से जन्म प्रमाण पत्र बनवाना है, का ऑप्शन आता है। उस आप्पन को सलेक्ट करने के बाद संबंधित व्यक्ति का संबंधित राजकीय चिकित्सालय के द्वारा जारी किया गया जाली जन्म प्रमाण पत्र हुबहू तयार हो जाता है। जिसमें कोई भी किसी प्रकार का संदेह नहीं रहता है। इसी के आधार पर आगे सभी पहचान पत्र इत्यादि आसानी से तैयार हो जाते हैं। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि सेलाकुई क्षेत्र में बाहरी राज्यों से काफी मजदूर कार्य करने के लिए आते है, जिनकी उम्र कम होती है, तो उनकी उम्र को इन जाली जन्म प्रमाण पत्रों के माध्यम से बढ़ाकर फैक्ट्रियों में आसानी से कार्य मिल जाता है एवं जाली प्रमाण पत्र के आधार पर ही यूआईडीआई की वेबसाइट पर आधार कार्ड का भी अपडेशन हो जाता है। गिरफ्तारी के दौरान एसटीएफ को भारी मात्रा में आधार कार्ड, जाली जन्म प्रमाण पत्र के अलावा अन्य

और पढ़ें  सीएम ने किया गायक सुभाष बड़थ्वाल के गीत का विमोचन।

दस्तावेज भी बरामद हुए हैं। इसके अलावा उन सभी फर्जी वेबसाइट का भी पता चला है जिनके माध्यम से फर्जी जन्म प्रमाण पत्र आदि पहचान पत्र बनाए थे। मौके से अभियुक्तों से एयरटेल पेमेंट बैंक की जालि मोहरे भी बरामद हुई है जिनके माध्यम से अभियुक्त किसी व्यक्ति का सत्यापन का कार्य करते थे। एसटीएफ द्वारा आगे यह भी जांच की जा रही है कि अभियुक्त गण द्वारा एस्टेल पेमेंट बैंक की मुहर द्वारा कौन-कौन से फर्जी कार्य किए गए हैं तथा किन किन लोगों के बैंक साथ एयरटेल पेमेंट बैंक में खुलवाए गए हैं।