अपर मुख्य सचिव ने स्वास्थ्य महानिदेशालय स्थित राज्य कोविड वॉर रूम व अन्य व्यवस्थाओं का किया निरीक्षण।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

सँवादसूत्र देहरादून: राज्य में कोविड-19 महामारी को लेकर स्वास्थ्य विभाग की मुस्तैदी एवं तैयारियों के बारे में जानकारी लेने के लिए उत्तराखण्ड शासन के अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्धन ने स्वास्थ्य महानिदेशालय स्थित राज्य कोविड वॉर रूम व अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। अपर मुख्य सचिव ने वॉर रूम के साथ-साथ टेली मेडिसन सेवा के लिए संचालित ई-संजीवनी ओ०पी०डी० की कार्य प्रणाली तथा 104 हैल्पलाईन सुविधा को भी देखा अपर मुख्य सचिव के साथ स्वास्थ्य सचिव डा० पंकज कुमार पाण्डेय भी मौजूद थे।

ज्ञातव्य है कि कोविड महामारी के कारण मरीजों का अस्पताल में आवागमन बाधित हो गया था जिस कारण घर बैठे मरीजों को चिकित्सक का परामर्श देने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा ई-संजीवनी ओ०पी०डी० का संचालन किया जा रहा है। इस ओ०पी०डी० में घर बैठे वीडियो कॉल द्वारा मरीज सीधे चिकित्सक से सम्पर्क कर उपचार हेतु परामर्श प्राप्त कर सकते हैं। यह ओ०पी०डी प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से सायं 6 बजे तक संचालित होती है जिसमें विशेषज्ञ चिकित्सकों की भी मरीज को हो रही है। इस ओ०पी०डी० के द्वारा अभी तक 3.73 लाख मरीजों को निःशुल्क परामर्श एवं उपचार प्रदान किया जा चुका है।

और पढ़ें  मोदी ने पहनी उत्तराखंडी टोपी, राजनीति शुरू।

अपर मुख्य सचिव ने राज्य स्तरीय कोविड वॉर रूम की कार्य प्रणाली तथा प्रतिदिन जनपदों से प्राप्त होने वाली रिपोर्टिंग के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देश दिए कि जनपदों में स्थित कोविड कन्ट्रोल रूम का संचालन भी राज्य स्तरीय वॉर रूम की तरह प्रभावी रूप से किया जाए ताकि कोविड पॉजिटिव मरीजों तथा होम आईसोलेशन में रह रहे मरीजों को किसी भी प्रकार असुविधा में त्वरित सहायता एवं जानकारी दी जा सके।

और पढ़ें  बसपा ने 37 प्रत्याशियों के नाम की सूची की जारी।

अपर मुख्य सचिव के भ्रमण के दौरान स्वास्थ्य महानिदेशक डा० तृप्ति बहुगुणा, मिशन निदेशक सुश्री सोनिका, निदेशक डा० शैलजा भट्ट, डा० विनीता शाह, डा० सरोज नैथानी, कन्ट्रोल रूम के चीफ ऑपेरशन ऑफिसर डा० अभिषेक त्रिपाठी एवं महानिदेशालय तथा एन०एच०एम० के अधिकारी उपस्थित रहे।