बांग्लादेशी महिला ने रुद्रपुर से चुराया बच्चा, बुलंदशहर से गिरफ्तार।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


संवादसूत्र देहरादून/जाटी, रुद्रपुर/किच्छा : उत्तराखंड के रुद्रपुर से तीन माह के बच्चे को मंगलवार को चुराने वाली बांग्लादेशी महिला को पुलिस ने पति के साथ उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से बुधवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। दोनों ने बच्चे को कोलकाता ले जाकर बेचने की योजना बनाई थी।
एसएसपी डा. मंजूनाथ टीसी ने बताया कि मंगलवार दोपहर  सतुइया थाना पुलभट्टा निवासी प्रेमचंद्र पाल के तीन माह के पुत्र प्रतीक को उसके भाई उमेश के साथ लिव इन में रहने वाली महिला ज्योति उर्फ नैना ने चुरा लिया। जांच में पता चला कि ज्योति ने वार्ड नंबर नौ कस्बा अनूपशहर, बुलंदशहर उत्तर प्रदेश निवासी सूरज के साथ शादी की है। बच्चे को उसी के पास लेकर गई है। इसपर बुधवार टीम पुलिस टीम बुलंदशहर भेजी गई। वहां देर रात ज्योति व सूरज को गिरफ्तार कर उनके पास से मासूम प्रतीक को भी बरामद कर गुरुवार को रुद्रपुर लाया गया।

ज्योति मूल रूप से बंग्लादेश की रहने वाली है। बाद में अपने मामा के पास ग्राम पानी खली मजदिया, थाना धंतला, जनपद नादिया बंगाल में आकर रहने लगी। उसने पहली शादी बिहार निवासी चेतू नाम के व्यक्ति से की। इसके बाद वह रुद्रपुर चली आई। यहां उसने किच्छा व बहेड़ी में एक-एक कर पांच शादियां कीं। तीन वर्ष पहले उसने सूरज के साथ छठी शादी की। लेकिन इस बीच भी वह पुलभट्टा निवासी उमेश के साथ लिव इन रिलेशन में रही। इसी दौरान उसके भाई प्रेमचंद्र पाल के परिवार से घुल मिलकर मौका पाते ही तीन माह के पुत्र प्रतीक को चुराकर भाग गई। पुलिस के अनुसार पूछताछ में ज्योति ने बताया कि वह बच्चे को शुक्रवार को कोलकाता ले जाकर बेचने वाली थी।