मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने दिव्यांग मतदाताओं का रजिस्ट्रेशन व घर से मतदान की सुविधा के दिए निर्देश।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: शुक्रवार को भारत निर्वाचन आयोग स्वीप के डायरेक्टर श्री संतोष अजमेरा एवं ज्वाइंट डायरेक्टर श्री अनुज चंडाक ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय, उत्तराखण्ड की ओर से वीरचंद्र सिंह गढ़वाली सभागार सचिवालय में आयोजित राज्य स्तरीय स्वीप कंसल्टेशन कार्यशाला को संबोधित किया। मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सौजन्या ने स्मृति चिन्ह् भेंट कर ईसीआई के दोनों अधिकारियों का स्वागत किया।
भारत निर्वाचन आयोग से आये निदेशक ने राज्य में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों को सुगम बनाने, मतदाता जागरूकता शिक्षा एवं निर्वाचक सहभागिता की स्थिति तथा राज्य स्तरीय तैयारियों की भी समीक्षा की।
कार्यशाला में मुख्य विकास अधिकारी देहरादून श्रीमती नितिका खण्डेलवाल, मुख्य विकास अधिकारी हरिद्वार श्री सौरभ गहरवार, मुख्य विकास अधिकारी ऊधमसिंहनगर श्री आशीष भटगई ने पूर्व चुनावों और इस बार की तैयारियों का विस्तृत तुलनात्मक विश्लेषण प्रेजेंटेशन के माध्यम से आयोग के समक्ष रखा।
सीडीओ देहरादून, ऊधमसिंहनगर, हरिद्वार को मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सौजन्या ने नवीन मतदाता पंजीकरण व मतदाता सूची में प्रत्येक कम प्रतिशत वाले बूथों पर मतदान प्रतिशत बढ़ाने, दिव्यांग मतदाताओं का रजिस्ट्रेशन व घर से मतदान की सुविधा के बारे में जनजागरूकता बढ़ाने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये।
चुनाव आयोग भारत सरकार से आये अधिकारियों ने भी निर्वाचन के संबंध में स्पष्ट निर्देश उत्तराखण्ड निर्वाचन से जुड़े अन्य विभागों के अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि निर्वाचन को और अधिक बेहतर और सुगम बनाने के लिए सभी हितधारकों को निर्वाचन प्रक्रिया में सहयोगी के तौर पर साथ लिया जाए। उन्होंने उद्योग विभाग के माध्यम से इण्डस्ट्रीयल कर्मियों को वोट के प्रति प्रेरित किये जाने को कहा। औद्योगिक इकाईयों की दीवारों पर भी प्रेरक और जागरूकता सामग्री चस्पा करने, कमीशन से मतदान के दिन मिलने वाले अवकाश के दिन श्रमिकों द्वारा मतदान में सद्पुयोग ही करने के लिए विशेष कैम्पेन चलाने को कहा।
आउटरीच ब्यूरो के माध्यम से ग्रामीण व दुर्गम क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक व सांस्कृतिक दलों के विशेष सहयोग को भी जरूरी बताया।
रेडियों, दूरदर्शन, डाक विभाग, बैंक, नगर निकायों, एन.जी.ओ. को भी निर्वाचन कार्यक्रमों के व्यापक प्रचार-प्रसार के संगठन के रूप में अपनाने को कहा।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सौजन्या ने कहा कि जो भी विभाग और अधिकारी निर्वाचन गतिविधियों को संपन्न कराने में योगदान दे रहे है, वह प्रत्येक गतिविधि और कार्यक्रमों, नई पहल व सामने आने वाली चुनौतियों का चुनाव समाप्त होने तक सम्पूर्ण डॉक्यूमेंटेशन करें, जिसको राज्य निर्वाचन और भारत निर्वाचन आयोग के समक्ष प्रस्तुत किया जा सके।
कार्यशाला के बाद ईसीआई की टीम ने देहरादून जनपद का भौतिक निरीक्षण किया। 4 दिसम्बर को टीम द्वारा टिहरी जनपद के कम मतदान प्रतिशत वाले बूथों का निरीक्षण किया जाएगा।
कार्यशाला में श्री प्रताप शाह, अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी, श्री जितेन्द्र कुमार, उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी, श्री मोहम्मद असलम, राज्य नोडल अधिकारी स्वीप, श्रीमती सुजाता, राज्य समन्वयक स्वीप, सुश्री राखी, मीडिया समन्वयक, श्री अनुराग, स्वीप कन्सलटेण्ट, श्री नितिन उपाध्याय, उप निदेशक, सूचना, श्री राघवेश पाण्डे, उपनिदेशक, ए.आई.आर/डी.डी, देहरादून, श्री उमेश साहनीनी, राज्य निदेशक, नेहरू युवा केन्द्र, उत्तराखण्ड, श्री अजय कुमार अग्रवाल, राज्य एन.सी.सी अधिकारी, उत्तराखण्ड, श्री राकेश खण्डूरी, वरिष्ठ संवाददाता, अमर उजाला, निदेशक, युवा कल्याण खेल, निदेशक समाज कल्याण, निदेशक, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास, निदेशक माध्यमिक शिक्षा, निदेशक, चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, निदेशक, संस्कृति, श्री हिमांशु दास, निदेशक, एन.आई.ई.पी.वी.डी. देहरादून, श्री एस.के. कण्डवाल, वरिष्ठ अधीक्षक, डाक विभाग, देहरादून, श्री वी.एस.रावत, व्यस्थापन अधिकारी, भारत स्कॉउट एण्ड गाईड, देहरादून, श्री पूनीत बासु, निदेशक, बजाज इन्स्टीट्यूट ऑफ लर्निंग, देहरादून, श्री प्रमोद कुमार उपाध्याय, राज्य प्रमुख, बटर फ्लाई संस्थान, देहरादून, श्री पंकज गुप्ता, अध्यक्ष, उत्तराखण्ड औद्योगिक संघ, प्रतिनिधि, लायन क्लब, रोटरी क्लब, इनर व्हील क्लब, दून क्लब, आदि चैरिटेबल ट्रस्ट, उत्तराखण्ड शाखा उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.