जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दिए यात्रा व्यवस्था चाक-चौबंद करने के निर्देश।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें


संवादसूत्र देहरादून/ऋषिकेश: जिलाधिकारी देहरादून डा. आर राजेश कुमार ने मंगलवार को ऋषिकेश पहुंच कर यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। अधीनस्थ अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्होंने व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के समक्ष किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं आनी चाहिए। इसके लिए विभागीय अधिकारी जवाबदेह होंगे।
मंगलवार को जिलाधिकारी ने ऋषिकेश में श्री भरत मंदिर इंटर कालेज के समीप, लोक निर्माण विभाग निरीक्षण भवन के समीप और भरत विहार में अस्थाई पार्किंग स्थल के लिए चयनित भूमि का निरीक्षण किया। वह भद्रकाली चेक पोस्ट पहुंचे। यहां उन्होंने एसडीआरएफ की पुलिस चौकी में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों से अब तक का फीडबैक लिया। श्रद्धालुओं ने उनके समक्ष दर्शन के लिए स्लाट संबंधी समस्या को रखा।
जिलाधिकारी ने मुनिकीरेती स्थित गढ़वाल मंडल विकास निगम अतिथि गृह में अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने उप जिलाधिकारी व यात्रा नोडल अधिकारी शैलेंद्र सिंह नेगी को निर्देशित किया कि सभी विभागों के साथ बेहतर तालमेल बनाकर यात्रियों के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि पंजीकरण में आ रही व्यवहारिक परेशानियों को दूर किया जाएगा। शासन की ओर से विभिन्न धामों में भीड़ नियंत्रण के लिए जो व्यवस्था लागू की गई है वह श्रद्धालुओं को परेशानी से बचाने के लिए ऋषिकेश में रुकने वाले यात्रियों के लिए पड़ाव को सभी सुविधाओं से सुसज्जित किया जाए।

इस दौरान तहसीलदार अमृता शर्मा, पुलिस उपाधीक्षक डीसी ढोंडियाल, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी प्रशासन अरविंद कुमार पांडे, प्रवर्तन मोहित कोठारी, थाना प्रभारी निरीक्षक मुनिकीरेती रितेश शाह, ऋषिकेश रवि सैनी आदि मौजूद रहे।