हृदय गति रुकने से सैनिक की मौत।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

सँवादसूत्र देहरादून/ गोपेश्वर: चमोली जिले के मंडल घाटी के सगर गांव निवासी सेना के जवान गजेंद्र सिंह नेगी की हृदय गति रुकने से मौत हो गई है। बुधवार को सेना के जवान पार्थिव शरीर को लेकर सगर गांव पहुंचे। एक घंटे तक जवान के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शनों के लिए उनके आवास पर रखा गया। उसके बाद उनके पैतृक घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया।

52 वर्षीय शहीद गजेंद्र सिंह पुत्र दयाल सिंह नेगी बेहद मिलनसार और हंसमुख जवान थे। उनकी बेटी एम्स दिल्ली में सेवारत है, जबकि बेटा पढ़ाई कर रहा है। सेना के जवान बुधवार को उनका पार्थिव शरीर को लेकर गांव में पहुंचे। गजेंद्र सिंह मणिपुर में असम राइफल में तैनात थे।

और पढ़ें  प्रदेश में 8 वर्ष से 14 वर्ष तक की आयु के बालक बालिकाओं को खेल प्रतिभा के अनुसार प्रति वर्ष मुख्यमंत्री खिलाड़ी उन्नयन छात्रवृत्ति दी जाएगी : मुख्यमंत्री।

करीब एक घंटे तक अंतिम दर्शनों के बाद पार्थिव शरीर का पैतृक घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। शहीद की अंतिम यात्रा में ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा।