पुलिस महानिदेशक ने चारधाम यात्रा, आपदा प्रबन्धन के सम्बन्ध में जनपद प्रभारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड ने परिक्षेत्र एवं जनपद प्रभारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से चारधाम यात्रा, आपदा प्रबन्धन के सम्बन्ध में बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए ।

बैठक में पुलिस महानिदेशक ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार चारधाम यात्रा एवं कानून व्यवस्था के दृष्टिगत विगत 10 वर्षों से उत्तराखण्ड में कार्यरत एंव निवास कर रहे और रेड़ी/ठेली लगाने वालों तथा किरायदारों आदि का भौतिक सत्यापन कराए जाने हेतु दिनांक 21 अप्रैल, 2022 से 10 दिवस का एक सघन अभियान चलाया जाएगा। अभियान के अन्तर्गत की गयी दैनिक सूचना पुलिस मुख्यालय को उपलब्ध कराएंगे।

और पढ़ें  उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय में शुल्क बढ़ोतरी के खिलाफ धरने पर बैठे छात्र।

प्रदेश के तीर्थ स्थलों की मर्यादा और पर्यटक स्थलों पर स्वच्छता बनी रहे इसके लिए दिनांक 21 अप्रैल, 2021 से पूरे प्रदेश में तीन माह हेतु पुनः “ऑपरेशन मर्यादा” विशेष अभियान चालाया जा जाएगा। इस विशेष अभियान के अन्तर्गत तीर्थ स्थलों एवं गंगा किनारों पर हुड़दंग और मादक पदार्थों का सेवन करने वालों को तुरंत गिरफ्तार और पर्यटक स्थलों पर गंदगी करने वालों के विरूद्ध जुर्माने की कार्यवाही की जाएगी।

और पढ़ें  शादी का प्रस्ताव रखकर ठगी करने वाला नाइजीरियन सहित तीन को किया पुलिस ने किया गिरफ्तार।

मानसून सीजन में बाढ़, भूस्खलन, जलभराव आदि आपदा की दृष्टि से संवेदनशील स्थानों के चिन्हीकरण शीघ्र कर सम्भावित आपदा से निपटने के लिए कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा जंगलों में लगने वाली आग के सम्बन्ध में सक्रिय दृष्टिकोण अपनाएं। ऐसा करने वाले शरारती तत्वों के विरूद्ध मुकदमा पंजीकृत किया जाए।

साम्प्रदायिक तनाव फैलाने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर उन पर सतर्क दृष्टि रखी जाए। सोशल मीडिया पर भी निरंतर निगरानी रखी जाए। ऑपरेशन क्लीन स्वीप चलाये जाने हेतु भी समस्त जनपद प्रभारियों को निर्देशित किया।

और पढ़ें  गोल्ड का भाला,देश को नीरज चोपडा ने दिलाया गोल्ड।