वित्त मंत्री ने अधिकारियों को आबकारी दरों को कम करने को लेकर आवश्यक कार्यवाही के दिए निर्देश।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: प्रदेश के वित्त मंत्री प्रेम चन्द अग्रवाल द्वारा आबकारी विभाग में राजस्व प्राप्ति से संबंधित समीक्षा बैठक विधानसभा स्थित सभाकक्ष में विभागीय अधिकारियों के साथ की गई।

मंत्री ने कहा कि राज्य में राजस्व बढ़ाने की दिशा में आबकारी विभाग एक महत्वपूर्ण विभाग है। उन्होंने राजस्व बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि विगत वर्षों का बकाया जल्द ही वसूल किया जाए।
उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य पड़ोसी राज्यों की अपेक्षा अच्छा राजस्व प्राप्ति का होना चाहिए, इस दिशा में उन्होने अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्हांेने ट्रैस एड ट्रैकिंग पर जोर देते हुए कहा कि लिक्कर की बोतलों पर होलोग्राम ट्रैकिंग का कार्य सितम्बर माह के अन्त तक शुरू किया जाए, जिससे आबकारी पर होने वाले कालाबाजारी को प्राथमिकता के आधार पर रोका जा सके। उन्होंने कहा की होलोग्राम ट्रैकिंग व्यवस्था के माध्यम से राजस्व प्राप्ति में वृद्धि होगी तथा कालाबाजारी को रोकने में भी मदद मिलेगी।

और पढ़ें  शिक्षा सचिव ने शिक्षा विभाग से 7 बिंदुओं में मांगी बड़ी जानकारी।

मंत्री ने कहा कि आने वाले वित्तीय वर्ष में आबकारी से होने वाले राजस्व प्राप्ति के लक्ष्य को बढ़ाकर 3600 करोड़ से अधिक किया जाए, इसके लिए उन्होंने बोटलिंग प्लान्ट को बढ़ावा देने तथा आबकारी दरों को कम करने के सुझावों पर आवश्यक कार्यवाही हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया।

इस अवसर पर बैठक में सचिव, वित्त सौजन्या, सचिव वित्त, दिलीप जावलकर, सचिव आबकारी, एचसी सेमवाल तथा अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।