फर्म के 4.80 लाख रुपए लेकर फरार हुआ चालक पुलिस ने दबोचा।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/ऋषिकेश: ऋषिकेश से सामान लेने पंजाब गया था चालक, अंबाला में वाहन खड़ा कर हो गया था फरार
जागरण संवाददाता, ऋषिकेश
फर्म के चार लाख 80 हजार रुपए लेकर फरार हुए फर्म के वाहन चालक को पुलिस ने केंपटी फॉल मसूरी से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसके कब्जे से नगदी तथा मोबाइल फोन बरामद किया है।
सोमवार को ऋषिकेश कोतवाली में पुलिस उपाधीक्षक डीसी धौंडियाल व कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार सैनी ने मामले का पर्दाफाश किया। उन्होंने बताया कि इस मामले में गोविंद नगर ऋषिकेश निवासी गुरविंदर सिंह पुत्र गुरदीप सिंह ने ऋषिकेश कोतवाली में तहरीर दी थी। जिसमें उन्होंने बताया कि वह क्लासिक इंटीरियर एवं हार्डवेयर के नाम से गोविंद नगर में एक फर्म का संचालन करते हैं। उन्होंने बताया कि फार्म में उन्होंने सतीश चंद तायल को चालक के रूप में नौकरी पर रखा था, जो फार्म की गाड़ी में सामान लाने ले जाने का कार्य करता था। सातअप्रैल 2022 को प्रातः 7:00 बजे गुरविंदर सिंह ने चालक सतीश चंद को अपने फार्म की कार लेकर चार लाख 80 हजार रुपए की नगदी देकर सामान लेने के लिए पंजाब भेजा था। जिसके बाद सतीश का मोबाइल स्विच आफ हो गया और उससे कोई संपर्क नहीं हो पाया। फर्म मालिक गुरविंदर सिंह ने जब जीपीआरएस की मदद से वाहन की तलाश की तो फर्म का वाहन अंबाला रेलवे स्टेशन के पास मिला, जिसे दूसरी चाबी के मदद से वह वापस ले आए। मगर, चालक सतीश चंद्र तायल का कुछ पता नहीं चल पाया। इस मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू की।
पुलिस क्षेत्राधिकारी डीसी ढोडियाल ने बताया कि आरोपित की गिरफ्तारी तथा पैसों की बरामदगी के लिए पुलिस ने एसओजी देहात की मदद से सर्विलांस तथा सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। जिसके बाद सोमवार को आरोपित सतीश चंद्र तायल को केंपटी फॉल मसूरी से गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने उसके कब्जे से चार लाख 19 हजार 500 रुपए की नगदी तथा एक मोबाइल फोन बरामद किया है। पूछताछ में आरोपित सतीश चंद तायल ने बताया कि चार लाख 80 हजार की बड़ी रकम पाकर उसका मन बदल गया था। इन पैसों को हड़पने के लिए उसने कार को अंबाला स्टेशन पर पार्क कर दिया। जिसके बाद उसने अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर सिमकार्ड तोड़ कर फेंक दिया। सतीश चंद ने बताया कि अंबाला से वह बस पकड़कर हरिद्वार आ गया। रुड़की में उसने नया फोन तथा सिम कार्ड खरीदा, जिसके बाद आठ अप्रैल को वह हरिद्वार में एक होटल में रुका। नौ अप्रैल को फिर से देहरादून के होटल में रुका तथा 10 अप्रैल को केंपटी फॉल चला गया, जहां पुलिस ने उसे पकड़ लिया। इस बीच मोबाइल खरीदने तथा होटल का बिल आदि चुकाने में उसने फर्म से मिले पैसे का ही उपयोग किया।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार सैनी ने बताया कि आरोपित के आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटाई जा रही है। आरोपित को न्यायालय में पेश किया जा रहा है। पुलिस टीम में उप निरीक्षक अरुण त्यागी, एसओजी देहात प्रभारी ओम कांत भूषण व उनकी टीम शामिल रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.