तेरी मिट्टी में मिल जावां, गुल बनके मैं खिल जावां

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

देखें वीडियो

ऋषिगंगा घाटी की आपदा पर आइटीबीपी के जवान ने बनाया गीत
दर्द भरे गीत में रेस्क्यू में जुटे जवानों के साहस का भी जिक्र भी


वीडियो

देहरादून: जोशीमठ के तपोवन (ऋषिगंगा घाटी) में बीती रविवार को आए भयावह सैलाब और इसके बाद मची तबाही के मंजर को कभी भुलाया नहीं जा सकता है।आपदा के बाद देवदूत बनकर राहत व बचाव कार्य के लिए पहुंचे सेना व अर्द्धसेना के जवानों के जोश-जज्बे को भी हमेशा याद किया जाता रहेगा। आपदा के इन जख्मो को कोई शब्दों में पिरोकर किताब में दर्ज करेगा तो फिर कोई गीत बनाकर। आइटीबीपी के एक जवान अर्जुन खेरीवाल ने इसपर एक गीत बनाया और गाया है।जिसमें आपदा के बाद मची तबाही का दर्द भी है, तो रेस्क्यू अभियान में लगे जवानों के साहस का जिक्र भी।
दरअसल, आइटीबीपी के जवान अर्जुन ने केसरी फिल्म के गीत तेरी मिटी में मिल जावा, गुल बनके मैं खिल जावा…मेरा धर्म यही मेरा कर्म यही. यूं जान हवेली पर रखकर हम सीना ताने चलते हैं. उम्मीदें हो जहां वहां हम दीपक बनकर जलते हैं, को अपनी आवाज दी है। दो मिनट 15 सेकेंड का यह गीत व वीडियो उन जवानों को समर्पित किया गया है जो कि रेस्क्यू अभियान में लगे हुए हैं। सोशल मीडिया पर भी यह गीत तेजी से वायरल हो रहा है। आपदा के बाद तपोवन व आसपास मची तबाही के दृश्य देखकर जहां हर किसी की आंखें नम हो जा रही है, वहीं सेना व अर्द्धसेना के जवानों द्वारा चलाए जा रहे राहत व बचाव कार्य देख हर किसी का सीना गर्व से चौड़ा हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *