केदारनाथ धाम में नमो फूंक गये चेतना का मूलमंत्र।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/रुद्रप्रयाग: शुक्रवार को नमो पाँचवी बार केदारपुरी आये तथा धाम से ही देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने नई पीढ़ी को देश की सांस्कृतिक समृद्धि और परंपराओं से अवगत कराया। प्रधानमंत्री ने देशभर में केदारनाथ की महत्ता को रेखांकित करते हुए यहां तक कह दिया कि 21वीं शताब्दी का यह तीसरा दशक, उत्तराखंड राज्य का दशक होगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांचवीं बार केदारनाथ पहुंचे तथा अपने 51 मिनट के संबोधन में भारतीयता, भारतीय दर्शन और आदि शंकराचार्य के दर्शन पर केंद्रित रहा। उन्होंने उत्तराखंड ही नहीं, पूरे देश को भारतीय परंपरा व दर्शन के माध्यम से एक सूत्र में पिरोया। नमो की केदारनाथ के प्रति अगाध आस्था है और वह शुक्रवार को इससे अभिभूत भी दिखाई दिए। वह अकसर स्वयं को केदारनाथ के साथ उत्तराखंडियत से भी जोड़ते रहे हैं। उत्तराखंड से उनका कितना आत्मीय नाता है। राज्य में अगले साल की शुरुआत में चुनाव हैं, लेकिन उन्होंने किसी भी तरह की कोई राजनीतिक भाषण नहीं दिया और न विपक्ष को निशाने पर ही लिया। उन्होंने कोई घोषणा तो नहीं की, लेकिन यह कहकर कि केदारनाथ में पिछले सौ वर्षों में जितने श्रद्धालु आए, उतने अगले 10 वर्षों में आएंगे, इसी से अंदाजा लगया जा सकता है कि राज्य को नमो खुले हाथो से विकास के लिए केंद्र सरकार हर संभव मदद करने को तैयार है।
नमो ने इशारो ही इशारो में धाम से पूरे राज्य में इतनी समृद्धि आएगी, जिससे पहाड़ का पानी और जवानी पहाड़ के ही काम आएगी। रोजगार के अवसर सृजित होंगे तो पलायन पर स्वत: ही अंकुश लग जायेगा।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड सैनिक बाहुल्य राज्य है,उस नब्ज को भलीभांति समझते हुए,नमो ने अपने संबोधन की शुरुआत ही इस तरह की कि, कल दीपावली पर वह कश्मीर में सैनिकों के बीच थे और आज वहां हैं, जिसे सैन्य भूमि कहा जाता है।
भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने नमो का किया आभार व्यक्त।
केदारनाथ में चार सौ करोड़ रूपये से अधिक की पुनर्निर्माण परियोजना का लोकार्पण और शिलान्यास सहित आदि गुरु शंकराचार्य की प्रतिमा का अनावरण करने पर रुद्रप्रयाग भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया है। उनियाल ने कहा कि उत्तराखंड वासियों का सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री मोदी बार बार केदारनाथ पहुँच कर राज्य के विकास के लिए अग्रणी रहते है।

और पढ़ें  गीता मैंदुली को मिला साहित्य गौरव सम्मान।

जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने कहा कि केदारनाथ आपदा के बाद से प्रधानमंत्री ने केदारनाथ पुनर्निर्माण का जिम्मा संभाला जिसके चलते चार धाम यात्रा पर तीर्थयात्रियों की संख्या लगातार बढ़ी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा धाम में अपने संबोधन के दौरान पहाड़ का पानी व जवानी पहाड़ के काम नहीं आती हैं के कथन पर पहाड़ से पलायन को रोकने का प्रयास पर कही गयी है। जो मोदी के राज्य के प्रति प्रेम को दर्शाता है। जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने राज्य की जनता की ओर से प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *