मदरसों में लागू होगा ड्रेस कोड, चलेगी NCERT किताबें।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: उत्तराखंड के मदरसों में ड्रेस कोड लागू किया जाएगा. जहां मदरसा छात्र तय किए गए ड्रेस में ही पढ़ने के लिए आएंगे. साथ ही मदरसा छात्रों को भी केंद्र सरकार से ड्रेस का पैसा मिलेगा।

उत्तराखंड में मदरसों के आधुनिकीकरण की राह में जल्द ही नए कदम उठाए जा रहे हैं. जहां मदरसों में शिक्षा हासिल करने वाले छात्रों के लिए ड्रेस कोड लागू किया जा रहा है. ऐसे में अब छात्र कुर्ता-पायजामा पहन कर मदरसे में पढ़ने के लिए नहीं जा सकेंगे. क्योंकि, प्रदेश में वक्फ बोर्ड के दायरे में आने वाले सभी 103 मदरसों में अगले साल से ड्रेस कोड लागू होगा. वहीं, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि, इसके लेकर प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. जहां इसे जल्द से जल्द लागू करने का प्रयास किया जाएगा.

और पढ़ें  मुख्य सचिव ने अधिकारियों को गढ़वाल एवं कुमाऊं को जोड़ने वाले मार्गों को विकसित करने के दिये निर्देश।

प्रदेश के 103 मदरसों में ड्रेस कोड लागू किया जाएगा. इसके अलावा सभी मदरसों में एनसीईआरटी की किताबें भी लागू की जाएंगी. गौरतलब है कि, उत्तराखंड में वक्फ बोर्ड के दायरे में 103 मदरसे आते हैं. वहीं, शादाब शम्स ने कहा, मदरसों को मॉडर्न स्कूल के तर्ज पर चलाई जाने की भी तैयारी चल रही है. जहां पहले चरण में 7 मदरसे में ड्रेस कोड लागू किया जाएगा, जिसमें दो देहरादून, दो उधमसिंह नगर, दो हरिद्वार और एक नैनीताल के के मदरसों में ड्रेस कोड लागू किया जाएगा।

और पढ़ें  खटीमा पहुंचते ही सीएम पुष्कर सिंह धामी ने धान मण्डी का औचक निरीक्षण किया।

मदरसों के बच्चों को यूनिफार्म सरकार की ओर से दी जाएगी या फिर छात्रों को खुद खरीदना पड़ेगा. अभी इसकी जानकारी नहीं दी गई है. वहीं, प्रदेश के मदरसों में ड्रेस कोड लागू किए जाने का फैसला पहली बार लिया गया है. जहां बोर्ड इस संबंध में जल्द ही केंद्र सरकार को छात्रों की ड्रेस के लिए बजट प्रस्ताव बनाकर भेजेगा।