जोशीमठ से आगे अलकनंदा ग्लेशिर फटने की सूचना

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट का हिस्सा टूटा, तबाही

वीडिओ में देखिये तबाही का मंजर

ब्रेकिंग:

चिपको आंदोलन की प्रणेता गौरा देवी के गांव रैणी में ग्लेशियर टूटने से तबाही मच गई है। ग्लेशियर टूटने के बाद आए लंबे से धौली गंगा पर बना तपोवन बैराज तबाह हो गया। खतरे को देखते हुए हरिद्वार तक अलर्ट जारी किया गया है।

चमोली गोपेश्वर: जोशीमठ मलारी राष्ट्रीय राजमार्ग पर रैंणी गांव के निकट ऋषिगंगा नदी में ग्लेशियर आने से ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट का एक हिस्सा टूट गया। इससे मलारी हाईवे पर रैंणी गांव के निकट बना पुल व सड़क का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है। प्रशासन द्वारा पूरे जिले में अलर्ट कर दिया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार सुबह दस बजे के करीब ऋषिगंगा नदी में एक भारी भरकम ग्लेशियर आने के बाद ऋषिगंगा का जल स्तर बढ़ गया। पानी बढऩे के साथ ही ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट का एक हिस्सा टूट गया। इससे अफरा तफरी का माहौल रहा। पानी का बहाव इतना अधिक था कि चिपको आंदोलन की प्रणेता गौरा देवी के गांव रैणी के निकट मलारी हाईवे पर पुल व सड़क का बड़ा हिस्सा तबाह हो गया। घटना में कर्मचारियों के हताहत होने की भी सूचना है। पुलिस व प्रशासन की टीम मौके के लिए रवाना हो गई है। प्रशासन ने पूरे जिले में अलर्ट कर दिया है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बताया कि जिले को हाई अलर्ट किया गया है। उन्होंने कहा कि नुकसान की सूचना ली जा रही हैं।

और पढ़ें  संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां, कहा अन्य राज्यों की तुलना में यहां पेट्रोल सस्ता।

जनपद चमोली में जोशीमठ से आगे ग्लेशियर टूटने की घटना पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिव आपदा प्रबंधन और डीएम चमोली से पूरी जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री लगातार पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। संबंधित सभी जिलों को अलर्ट कर दिया गया है। चमोली जिला प्रशासन, एसडीआरएफ के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंच गये हैं। लोगों से अपील की जा रही है कि गंगा नदी के किनारे न जाएं।

और पढ़ें  राज्य में 28 सिंतबर तक बारिश का येलो अलर्ट जारी।

ऋषिकेश कोडियाला इको टूरिज्म जोन में जल पुलिस और एसडीआरएफ को अलर्ट कर दिया गया है। जल पुलिस के साथ आपदा प्रबंधन दल राफ्टिंग स्थलों पर पहुंच गया है। यहां राफ्टिंग बंद करा दी गई है।

केंद्रीय जल आयोग ने अपनी सभी चौकियों पर अलर्ट जारी किया है। ऋषिकेश तथा हरिद्वार में 6 से 7 घंटे के भीतर इस पानी के पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *