15 अप्रैल से पूर्व चार धाम जाने वाली बसों की संख्या हो जाएगी तय: मंडलायुक्त।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/ऋषिकेश: उत्तराखंड की प्रसिद्ध चार धाम यात्रा को लेकर आयुक्त गढ़वाल मंडल सुशील कुमार ने पुलिस प्रशासन सहित संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में चार धाम यात्रा संचालन केंद्र स्थापित किए जाएंगे। 15 अप्रैल से पहले ही यात्रा पर जाने वाली परिवहन कंपनियों की बसों की संख्या और संयुक्त रोटेशन का गठन सुनिश्चित कर लिया जाएगा। 21 मार्च तक उन्होंने सभी विभागों को तैयारियों को पूरा करने के निर्देश दिए।
नगर निगम सभागार में आयोजित बैठक में आयुक्त ने सभी विभागों की सिलसिलेवार तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की असुविधा से संबंधित लिखित या फिर सोशल साइट पर मिलने वाली शिकायतों का तत्काल निस्तारण होना चाहिए। यात्रियों की सहायता के लिए सभी जिला अधिकारी अपने यहां कंट्रोल रूम स्थापित करेंगे। 21 मार्च तक सभी तैयारियां पूर्ण हो जानी चाहिए।

और पढ़ें  भराड़ीसैण लाठीचार्ज के खिलाफ धस्माना बैठे अनशन पर।

उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग संयुक्त रोटेशन की स्थापना और बसों की संख्या का निर्धारण करेगा। रोटेशन समिति प्रतिदिन बसों और यात्रियों की संख्या संबंधित सूचना परिवहन विभाग और यात्रा प्रशासन को देगा। बसों की कमी होने पर 20 दिन पूर्व ही परिवहन विभाग को सूचित करना होगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड परिवहन निगम भी यात्रा सीजन में यात्रियों की संख्या वृद्धि को देखते हुए बसों का संचालन धाम के अनुसार करेगा। यात्रा मार्ग पर अस्थाई चिकित्सा केंद्र समय पर बन जाने चाहिये।इनमें चिकित्सकों की तैनाती और उपयोगी दवाएं भी उपलब्ध होनी चाहिए। केदारनाथ और यमुनोत्री धाम में कार्डियोलाजिस्ट विशेषज्ञ की तैनाती होगी। यात्रा मार्गों पर स्वास्थ्य निरीक्षकों को भी तैनात किया जाएगा।

और पढ़ें  उमेश कुमार के निर्वाचन को हाई कोर्ट में चुनौती।

आयुक्त ने कहा कि जिलाधिकारियों के स्तर पर अपने अपने यहां एयर एंबुलेंस की व्यवस्था शासन से करवाई जाएगी। यात्रा बस टर्मिनल ऋषिकेश में यात्री चिकित्सा केंद्र स्थापित होगा। 15 अप्रैल तक यात्रा मार्गो के सभी कस्बों,गांव के क्षेत्र में सफाई व्यवस्था स्थानीय निकाय की ओर से पूरी कर ली जाएंगी। जरूरत के अनुसार यात्रा मार्ग पर शौचालय और कूड़ा दान की व्यवस्था होगी। चार धाम यात्रा क्षेत्र में पॉलिथीन और प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह से वर्जित रहेगा। इस पर दंडात्मक कार्यवाही भी होगी।

आयुक्त गढ़वाल सुशील कुमार ने यात्रा मार्ग से जुड़े सभी तहसील क्षेत्र में उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वह मुख्य मार्गों से अतिक्रमण हटाकर यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने का काम करें। इसमें पुलिस प्रशासन पूरा सहयोग करेगा।
अपर आयुक्त गढ़वाल नरेंद्र सिंह क्वीरियाल,डीआइजी परिक्षेत्र करण सिंह नगन्याल, जिलाधिकारी हरिद्वार विनय शंकर पांडे, एसएसपी हरिद्वार वाईएस रावत, जिलाधिकारी चमोली विजय शंकर जोगदंडे, एसपी चमोली श्वेता चौबे, एसपी उत्तरकाशी प्रदीप राय, अपर पुलिस अधीक्षक पौड़ी मनीषा जोशी, आरटीओ प्रशासन दिनेश पठौई,आरटीओ यातायात सुनील शर्मा,अपर निदेशक स्वास्थ्य डा.उमाशंकर डा. कंडवाल, सीएमओ टिहरी संजय जैन, नगर आयुक्त ऋषिकेश गिरीश चंद्र गुणवंत, सीएमओ पौड़ी डा. प्रवीण कुमार, आरएफसी गढ़वाल बीएल राणा, मुख्य अभियंता ऊर्जा निगम रजनीश अग्रवाल, सीइओ बदरी केदार मंदिर समिति बीडी सिंह, एजीएम पर्यटन जीएमवीएन एसपीएस रावत,अपर जिलाधिकारी देहरादून रामजी शरण शर्मा, अपर जिलाधिकारी उत्तरकाशी टीपी सिंह, उप जिलाधिकारी ऋषिकेश अपूर्वा पांडे,एआरटीओ ऋषिकेश अरविंद कुमार पांडे, एआरएम रोडवेज ऋषिकेश पीके भारती, तहसीलदार अमृता शर्मा,सीओ ऋषिकेश डीसी ढौंडियाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published.