राष्ट्रपति के हालिया कानपुर दौरे की तस्वीर आपत्तिजनक दावे के साथ वायरल।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र (नई दिल्‍ली)। सोशल मीडिया पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की एक तस्वीर आपत्तिजनक दावे के साथ शेयर की जा रही है। इस तस्वीर में राष्ट्रपति कोविंद संग यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ मौजूद हैं। तस्वीर में दिख रहे राष्ट्रपति कोविंद के शारीरिक हावभाव को फर्जी जातिवादी एंगल से वायरल किया जा रहा है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में सामने आया है कि अपनी हालिया यात्रा के दौरान गृह जनपद पहुंचने पर राष्ट्रपति कोविंद भावुक हो गए और उन्होंने अपने जन्मस्थान की मिट्टी को माथे से लगाया। राष्ट्रपति के इसी भावुक जेश्चर को फर्जी जातिवादी एंगल से वायरल किया जा रहा है।

फेसबुक रामबाबू रस्तोगी  ने 27 जून 2021 को वायरल तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा है, ‘वैसे तो महामहिम के बारे मे बोलना नही चाहिये पर गाँव में दलितो को हमने ठाकुर साहब के सामने ऐसे ही झुककर जाते हुए देखा है, दलित सर्वोच्च पद पर बैठे तो कम से कम पद की मर्यादा तो बनाये रखे।’ फैक्ट चेक के उद्देश्य से इस पोस्ट में लिखी गई बातों को यहां ज्यों का त्यों पेश किया गया है।

और पढ़ें  एक बार फिर देश में कोरोना ने पसारे पैर,कई छात्रों पर कोरोना का असर: देश में 30 दिन में 2400 स्टूडेंट पॉजिटिव।

वायरल तस्वीर में राष्ट्रपति झुक कर अपने हाथ को माथे पर लगाए हुए हैं। तस्वीर में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी नजर आ रही हैं। वायरल पोस्ट पर कुछ यूजर्स ने अपने कमेंट में बताया है कि राष्ट्रपति अपने गांव की मिट्टी को नमन कर रहे हैं, मातृभूमि को प्रणाम कर रहे हैं।

27 जून 2021 को प्रकाशित आउटलुक की एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में वायरल तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। इस तस्वीर के कैप्शन में लिखा गया है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने गांव के पास बने हेलीपैड पर उतरने के बाद भावुक हो गए और उन्होंने झुककर जन्मस्थान की मिट्टी को माथे पर लगाया। रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार वह अपने गांव की यात्रा पर आए थे।

और पढ़ें  मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं के जनपदों में हिम प्रहरी योजना लागू किये जाने का अनुरोध किया।

हमें ABP न्यूज की वेबसाइट पर 27 जून को ही प्रकाशित फोटो गैलरी पर भी यही तस्वीर मिली। यहां भी बताया गया है कि राष्ट्रपति मातृभूमि की मिट्टी को माथे से लगा रहे हैं। यह तस्वीर राष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी मिली। यहां बताया गया है कि अपने गांव परौख के पास के हेलीपैड पर लैंडिंग के बाद राष्ट्रपति भावुक हो गए और उन्होंने झुककर जन्मस्थान को नमस्कार किया व मिट्टी को माथे से लगाया।

और पढ़ें  कौन बनेगा मुख्यमंत्री ?अभी तक प्रश्न जस का तस,अमित शाह के घर पर बैठक आज।

फोटो कानपुर की मेयर प्रमीला दीक्षित संग शेयर किया गया है, उन्होंने बताया कि कानपुर के दौरे पर राष्ट्रपति के आने के बाद उनके भावुक होने का यह दृश्य काफी सराहा गया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति अपने जन्मस्थान की मिट्टी को माथे से लगा रहे थे और इसको झूठे ढंग से पेश करना सही नहीं है।

हालिया यात्रा के दौरान कानपुर स्थित अपने गांव पहुंचने पर राष्ट्रपति कोविंद भावुक हो गए। गांव के पास बने हेलीपैड पर उतरने के बाद उन्होंने अपने जन्मस्थान की मिट्टी को माथे से लगाया। राष्ट्रपति के इसी भावुक जेश्चर को फर्जी जातिवादी एंगल से वायरल किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.