प्रमुख सचिव गृह ने पुलिस अधिकारियों के साथ पुलिस विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों पर महत्वपूर्ण बैठक की,दिए कुछ निर्देश।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

सँवादसूत्र देहरादून: प्रमुख सचिव, गृह, उत्तराखण्ड शासन  आर0के0 सुधांशु, द्वारा उत्तराखण्ड पुलिस मुख्यालय, देहरादून में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ पुलिस विभाग द्वारा किये जा रहे कार्य एवं विभिन्न मुद्दों पर चर्चा/विचार-विमर्श किया गया।

पुलिस विभाग द्वारा पुलिस उप महानिरीक्षक, पी/एम- श्री सेंथिल अबुदेई कृष्ण राज एस द्वारा प्रस्तुतिकरण के माध्यम से पुलिस के शासन स्तर के मुद्दों से उनको अवगत कराया गया।
माननीय प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए विजन SMART (S-Sensitive & Strict, M-Modern with Mobility, A-Alert & Accountable, R- Reliable & Responsive, T-Trained & Techno-Savvy) Policing पर उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रमुख सचिव, गृह द्वारा सराहना की गयी।

बैठक में निम्न बिन्दुओं पर विचार-विमर्श किया गया-
1. कार्मिक, प्रोवजिनिंग, आधुनिकीकरण, पुलिस कल्याण, कानून व्यवस्था, फायर, संचार, ड्रग्स, साइबर क्राइम आदि मुद्दों पर गहराई से मंथन किया गया।
2. तीन जनपदों- ऊधमसिहनगर, देहरादून, हरिद्वार में ट्रैफिक थाने खोले जाने पर भी चर्चा की गयी।
3. पर्यटन की दृष्टि से अतिमहत्वपूर्ण चोपता, धारी, सांकरी आदि में थाने/चौकियां खोले जाने पर चर्चा।
4. पुलिस कर्मियों हेतु पुरस्कार धनराशि की व्यवस्था हेतु नया उपलेखाशीर्षक खोले जाने पर चर्चा।
5. गैरसैंण में आईआरबी की तीसरी बटालियन की स्थापना पर चर्चा।
6. पुलिस आधुनिकीकरण हेतु बजट बढ़ाये जाने का अनुरोध किया गया।
7. आर्थिक अपराध थाना, नई फायर यूनिट खोले जाने तथा प्रशिक्षण भत्ते प्रदान करने का अनुरोध किया गया।
8. प्रदेश में पुलिस भवनों, थाना/चौकियों के भवनों हेतु बजट बढ़ाने का अनुरोध किया गया।
9. निष्क्रिय वाहनों के स्थान पर नए वाहन स्वीकृत करने पर चर्चा की गयी।
10. पीएसी के जवानों को मूवमेंट हेतु ट्रकों के स्थान पर बसों से मूवमेंट कराने हेतु बसों का नियतन बढ़ाने हेतु अनुरोध किया गया।

और पढ़ें  रेखा आर्या ने बालिका छात्रावास में जाकर व्यवस्थाओं का लिया जायजा।

पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड  अशोक कुमार ने उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा किये जा रहे कार्यों एवं उपलब्धियों के सम्बन्ध में कहा गया कि हमारे infrastructure बेहतर हुए हैं। माननीय प्रधानमंत्री जी की स्मार्ट पुलिसिंग की अवधारणा पर उत्तराखण्ड पुलिस अग्रसर है। उत्तराखण्ड पुलिस ने विगत वर्षों में काफी कुछ हासिल किया है, संवेदनशील पुलिसिंग की ओर भी काफी काम हुआ है, परंतु अभी भी हमें काफी कुछ हासिल करना बाकी है।

और पढ़ें  होटल में मिला नेता के बेटे का शव।

प्रमुख सचिव, गृह, उत्तराखण्ड शासन  आर0के0 सुधांशु, ने कहा कि उत्तराखण्ड पुलिस को स्मार्ट पुलिस बनाने में शासन पुलिस मुख्यालय के साथ है और हम इस ओर पूरा सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि हम सकारात्मक रूख अपनाते हुए पुलिस विभाग की समस्याओं का समाधान करेंगे।

बैठक में उत्तराखण्ड शासन से अपर सचिव गृह- श्री अतर सिंह, सहित अपर पुलिस महानिदेशक/निदेशक अभियोजन- श्री पीवीके प्रसाद, अपर पुलिस महानिदेशक, प्रशासन- श्री अभिनव कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस संचार- श्री अमित सिन्हा, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था- श्री वी मुरूगेशन, अपर पुलिस महानिदेशक, अभिसूचना एवं सुरक्षा- श्री संजय गुंज्याल, पुलिस महानिरीक्षक, कार्मिक- श्री ए पी अंशुमान, पुलिस महानिरीक्षक, प्रशिक्षण- श्री पूरन सिंह रावत, पुलिस महानिरीक्षक, एसडीआरएफ- श्री पुष्पक ज्योति, पुलिस महानिरीक्षक, फायर- श्री अजय रौतेला, पुलिस महानिरीक्षक, सीआईडी- श्रीमती विमला गुंज्याल, सहित अन्य पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.