ग्रामीणों की मदद को आगे आये सुदेश भट्ट,मेडिकल सुविधाओं के साथ कोरेन्टीन सेंटर किया तैयार।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र यमकेश्वर: वर्तमान मे कोविड महामारी की खबरें शहरों को छोडकर दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों से भी सुनने मे आ रही है! यमकेश्वर ब्लाक के अंतर्गत क्षेत्र बूंगा सुदेश भट्ट इस बार फिर इस महामारी मे क्षेत्रीय जनता के हक मे आगे आये हैं क्षेत्र पंचायत सदस्य ने बताया कि जहां महानगरों मे कोविड के चलते वार्डों मे सरकार द्वारा छिडकाव व चिकित्सा की सुविधायें बराबर दी जा रही हैं वहीं ग्रामीण क्षेत्रों मे कोविड के नाम पर सरकार द्वारा सुविधा के नाम पर पंचायतों को कोई बजट आवंटित न होना पहाड के साथ सौतेला व्यवहार प्रतीत होता है! बताते चलें कि आजकल यमकेश्वर के कई गांव वायरल से ग्रस्त हैं लेकिन चिकित्सा जांच व क्वारंटीन की उचित ब्यवस्था ना होने के कारण ग्रामीणों मे संक्रमण का खतरा बढता जा रहा है! जनता के प्रति निस्वार्थ भाव से कार्य करने वाले सुदेश भट्ट ने जहां पिछले साल भी कोविड के दौरान क्वारंटीन हेतु प्रदेश भर की एक मात्र क्षेत्र पंचायत मे टैंट कालोनी बनाकर एक अनोखा उदाहरण प्रस्तुत किया वहीं आज फिर सुदेश भट्ट अपनी क्षेत्र की जनता के प्रति आगे आये हैं व अपने निजि प्रयासों से चारपाई, गद्दे, चद्दर, तकिया, आक्सीमीटर, थर्मा स्कीनर गन, भाप लेने के लिये जरुरी यंत्र, थर्मामीटर, सैनेटाईजर, मास्क व मेडिकल किट लगाकर क्षेत्र पंचायत बूंगा मे शानदार आईसोलेसन क्वारंटीन ब्यवस्था दुरुस्त करी सुदेश भट्ट ने बताया की घनी आबादी से दुर जु. हाई स्कूल शक्तिखाल मे ये ब्यवस्था दुरुस्त की गयी है, ईस ब्यवस्था के बनने से क्षेत्र मे आने वाले प्रवासी या कोविड की आशंका वाले व्यक्ति यहां स्वयं को गांव से दूर आईसोलेसन कर सकेंगे !क्षेत्र पंचायत सदस्य सुदेॆश भट्ट ने बताया कि पिछली बार क्वारंटीन के दौरान क्वारंटीन हुये ग्रामीणों के लिये भोजन की ब्यवस्था उनके अपने घरों से ही जारी रही जिस कारण क्वारंटीन केंद्र से गांव तक संक्रमण की आशंका बनी रही पिछले अनुभव से सीख लेते हुये व पिछले साल की अपेक्षा ईस बार संक्रमण का खतरा अधिक होने के कारण क्वारंटीन केंद्र पर ही भोजन की ब्यवस्था की जायेगी ताकी क्वारंटीन केंद्र व गांवो के बीच संक्रमण फैलने से रोका जा सके, सेना मे अपने उत्कृष्ट कार्यों को लेकर हमेशा सैन्य अधिकारी व जवानों के बीच लोकप्रिय रहे सुदेश भट्ट सेवा निबृत्ति के बाद भी अपने उच्च अधिकारी व सहकर्मियों के साथ निरंत्तर जुडे हुये हैं व उनकी जनता के प्रति कार्य शैली व सेवा भाव को देखते हुये सैन्य अधिकारी भी अपने जवान की हमेशा हौसलाफजाई करते हुये उन्हे प्रोत्साहित करते
रहते हैं! क्षेत्र पंचायत बूंगा की इस ब्यवस्था में वरिष्ठ सैन्यधिकारी मेजर राहुल बडथ्वाल , मेजर राकेश शर्मा शौर्य चक्र, मेजर महेंद्र सिंह चौहान का सहयोग भी रहा।

और पढ़ें  भूस्खलन में होने वाली तबाही से बचाव हेतु पहाड़ी क्षेत्रों के लिये अलग रणनीति जरुरी।

सुदेश भट्ट ने बताया कि बर्तमान मे यमकेश्वर क्षेत्र की स्थिति को देखते हुये उन्होने मन बनाया है कि इसी तरह आपसी सहयोग से यमकेश्वर के अन्य गांवों मे भी इसी तरह की ब्यवस्था बनायी जा सके, ताकि संक्रमण की आशंका को कम किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *