कोटमा की रामलीला का आज भव्य राजतिलक एवं समापन हुआ।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/रुद्रप्रयाग: जनपद रुद्रप्रयाग के कालीमठ कोटमा में चल रही रामलीला का रविवार को 11वें दिन राजतिलक एवं रामचन्द्रजी की झाँकी के साथ समापन हो गया। राजतिलक के शुभ अवसर पर पहुंचे मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने दीप प्रज्ज्वलित किया और रिबन काटकर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।
11 दिवसीय रामलीला का सुन्दर मंचन किया। जिसमें सभी पात्रों के अभिनय काबिले-तारीफ रहे।आखिरी दिन रामचन्द्रजी के अयोध्या लौटने की ख़ुशी में झाँकी के साथ राजतिलक का मंचन किया गया, और हवन पूजन के साथ श्रीराम का मुकुट पहनाकर राज्यविशेषक कराया गया, यहाँ मौजूद लोगों ने पुष्प वर्षा कर राम, सीता, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघन, हनुमान आदि का स्वागत किया। इस दृष्य को देखकर बड़ी संख्या मे बैठी महिलाओ की आँखे भी नम हो गई ओर सभी ने जय श्री राम के जय करे लगाये।
मुख्य अतिथि दिनेश उनियाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज सबसे बड़ी खुशी हो रही है कि हमारे पहाड़ों ने इस परम्परा को आगे बढ़कर मर्यादा पुरुषोत्तम राम चन्द्रजी के अभिनय के साथ साथ समाज को भी प्रेरणा दे रहे है।
जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल ने कहा श्री राम ने माता,पिता की आज्ञा का पालन करते हुए बेटे होने का फर्ज निभाया और वनवास गये, इसलिए उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम कहा गया। उन्होंने यहॉ मौजूद भीड़ को एवं रामलीला के आयोजकों की भूरी भूरी प्रशंसा की। वहीं रामलीला के समापन पर राजतिलक के साथ साथ कई सुन्दर नाटक व गीतों की प्रस्तुतियां हुई।
इस अवसर पर उपहार समिति के अध्यक्ष बिपिन सेमवाल, सुरेशानंद गौड़, संदीप भट्ट, अनिल भट्ट, मुकुन्दी सत्कारी, बलवीर सिंह, यशपाल नेगी सहित सैकड़ों की संख्या में राम भक्त मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.