प्रदेश वार नीति से पहाड़ के युवाओं की नौकरी के मौके समाप्त हुए :सुरेंद्र कुकरेती।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/ विकासनगर: उत्तराखंड क्रांति दल पछवादून ने प्रदेश सरकार द्वारा घोषित युवा विरोधी नीति(पुलिस भर्ती को जनपदवार की जगह प्रदेशवार किया जाना/डीएलएड की काउंसिलिंग भी जनपदवार रिक्तियों के साक्षेप में प्रदेश वार करने के विरोध में राज्यपाल को एक ज्ञापन उपजिलाधिकारी विकासनगर के माध्यम से प्रेषित किया। राज्यपाल से इस नीति में बदलाव हेतु सरकार को निर्देशित करने की मांग की गई।

कार्यक्रम में निवर्तमान केंद्रीय कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र कुकरेती ने कहा वर्तमान सरकार पहाड़ के जिलों में निवास करने वाले युवा विरोधी है इनकी नीति से जिलेवार पुलिस में को मौका मिलता था, प्रदेश वार नीति से उनकी नौकरी के मौके लगभग समाप्त हो गए। इस नीति को तत्काल बदलने की आवश्यकता है।
जिला अध्यक्ष गणेश काला ने कहा इन राष्ट्रीय दलों की सरकारें हर बार पहाड़ विरोधी नीतियां लागू करती रही है, जिसके तहत पुलिस भर्ती व डी एल एड की काउंसिलिंग भी प्रदेश स्तर में करने से पहाड़ी जिलों के युवाओं के अवसर कम हुए इसे तुरंत वापस लिया जाए अन्यथा उक्रांद उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगा।
ज्ञापन देने वालों में दल के पूर्व केंद्रीय उपाध्यक्ष देवेंद्र कंडवाल , पूर्व केंद्रीय उपाध्यक्ष शैलेश गुलेरी, जितेंद्र पंवार, सुमित राणा, मनीष कुमार, यशपाल गुसाईं, नगर अध्यक्ष विकासनगर जय कृष्ण सेमवाल , बीना पंवार, सुनीता चमोली, गोदावरी भट्ट, शांति देवी, कमला घिल्डियाल, राम सिंह, अनीता चमोली, आनंद सिंह रावत, आत्मा राम, रेखा, मनोरमा डोभाल,अनीता चौधरी, मंजू भट्ट , सरोज मलासी शामिल रहे।