तीन वर्षीय बच्चे को बंदर ने पानी की बाल्टी में डुबो कर मार डाला।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

सँवादसूत्र देहरादून/चम्पावत : सुबह तीन साल के मासूम को बंदर बेड से उठाकर छत पर ले गया। वहां पानी से भरी बाल्टी में उसे डुबा दिया। मां के पहुंचने तक मासूम बाल्टी में औंधे मुंह गिरा मिला। अस्पताल ले गए तो डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस बंदर द्वारा ही बच्चे को ले जाने की पुष्टि के लिए सीसीटीवी खंगाल रही है। वहीं वन विभाग आसपास बंदरों को गतिविधियों पर नजर रखे है।

और पढ़ें  ब्रेकिंग न्यूज़ :नहीं रही नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, राजनीती के एक युग का हुआ अवसान।

टनकपुर के मुख्य बाजार वार्ड नंबर आठ नेहरू मार्ग निवासी शाहनवाज का तीन वर्षीय पुत्र जुबिन घर की छत में बने बाथरूम के पास पानी से भरी बाल्टी में औंधे मुंह गिरा मिला। स्वजन उसे संयुक्त चिकित्सालय ले गए जहां डाक्टर घनश्याम तिवारी ने बताया कि दम घुटने से बच्चे की मौत हुई है।दादा पूर्व सभासद अनीस अहमद ने बताया कि जुबिन अपनी माता साजिया के साथ सोया हुआ था। मंगलवार सुबह करीब पांच बजे बहू उठकर घर के काम में जुट गई। इस बीच बंदर ने कमरे में घुसकर जुबिन को कंबल सहित घसीट लिया। छत पर ले जाकर पानी की बाल्टी में डुबो दिया। करीब छह बजे बहू बिस्तर के पास गई तो उसे जुबिन वहां नही मिला। जिसके बाद उसकी खोजबीन की गई।

और पढ़ें  11 बजे तक राज्य में 18.97 प्रतिशत वोट पड़े।

वन विभाग के एसडीओ एसके मौर्या ने बताया कि सुबह के समय बंदर सोए रहते हैं। वे धूप निकलने के बाद झुंड में ही निकलते हैं। सुबह पांच-छह बजे बंदरों के घर में आने की संभावना कम है।विभाग भी अपने स्तर से मामले की जांच करेगा। रेंजर महेश सिंह बिष्ट ने बताया कि सुबह नौ बजे तक भी घर के आसपास कोई बंदर नहीं दिखाई दिया। इस मामले में पीड़ित परिवार को नियमानुसार मुआवजा दिलाया जाएगा
घटना के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची। कोतवाल हरपाल सिंह ने बताया कि आसपास लगे सीसीटीवी की फुटेज देखी जा रही है। स्वजनों ने शव का पोस्टमार्टम नहीं कराए जाने की बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.