आगामी 5 और 6 नवंबर को “उत्तराखंड विरासत” का आयोजित किया जाएगा।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून: पिछले साल की तरह इस बार भी “उत्तराखंड विरासत” का आयोजन आगामी 5 और 6 नवंबर को दून में आयोजित किया जाएगा। इस बार उत्तराखंड विरासत में पहाड़ी वाद्य यंत्र और लोक कलाकारों के प्रदर्शन के साथ ही म्यूजिक नाइट भी रखी गयी है। जिसमें पहाड़ के लोक गायक अपनी प्रस्तूति देंगे। साथ ही लोक गायकों का सम्मान भी किया जाएगा।
उत्तराखंड विरासत के आयोजक और चारधाम अस्पताल के एमडी डॉ केपी जोशी ने बताया कि उत्तराखंड की संस्कृति को बढ़ाने और विलुप्त होती वाद यंत्रों की कलाकारी को आगे लाने के लिए उत्तराखंड विरासत का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम रेंजर्स मैदान में होगा। कहा कि हमारा मकसद उत्तराखंड के सुदूर गांव कस्बों की प्रतिभाओं को राजधानी में मंच प्रदान करना व उनका प्रदर्शन करवाना है। ताकि उन्हें रोजगार से जोड़ा जा सके। सरकार के समक्ष बात रखी जाएगी। साथ ही विलुप्त होती पहाड़ी लोकनृत्यों, वाद्य यंत्रों का प्रदर्शन भी होगा। इसके अलावा ग्राम स्तर पर निर्मित हस्तकला का प्रदर्शन और उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी।विलुप्त होती उत्तराखंड संगीत की विधाओं, ढोल दमाऊ, रणसिंघा तथा लोक नृत्यों का प्रदर्शन भी कार्यक्रम में होगा। वहीं 5 नवंबर को शाम छह बजे से रात आठ बजे तक उत्तराखंड के प्रसिद्ध गायकों की ओर से एक सुर संगीत संध्या का आयोजन किया जाएगा। जिसमें लोक गायक नरेंद्र सिंह नेगी जी, प्रीतम भरतवाण जी, मीना राणा और संगीत धौंडियाल जी आदि अपनी प्रस्तूति देंगे।
डॉ जोशी ने बताया कि कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शामिल होंगे। उन्होंने इस कार्यक्रम के लिए अनुमति भी दे दी है। इसके अलावा विशिष्ट अतिथि में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, धर्मपुर विधायक विनोद चमोली, रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ, राजपुर विधायक खजादास और कैंट विधायक सविता कपूर होंगी। इस मुहिम में उद्योग विभाग का सहयोग रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.