योगी आदित्‍यनाथ अब 21 की जगह 25 मार्च को शपथ ग्रहण करेंगे।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

संवादसूत्र देहरादून/लखनऊ: यूपी विधानसभा चुनाव में जीत के साथ वापसी करने वाले योगी आदित्‍यनाथ के शपथ ग्रहण कार्यक्रम की तारीख में बदलाव हुआ है. सूत्रों के मुताबिक, यह कार्यक्रम 21 की जगह अब 25 मार्च को होगा. वहीं, शपथ ग्रहण कार्यक्रम लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में होगा. इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई राज्यों के मुख्‍यमंत्री शामिल होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, योगी आदित्‍यनाथ के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में वीवीआईपी गेस्ट के अलावा सामान्य जन को भी शामिल होने की अनुमति होगी. इसके अलावा राज्‍य सरकार की अलग-अलग योजनाओं के लाभार्थी भी शपथ ग्रहण कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे.

और पढ़ें  विवेकाधीन कोष से मतदाताओं को रकम बांटने के आरोप में हाई कोर्ट ने कैबिनेट मंत्री को जारी किया नोटिस।

योगी आदित्‍यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में 45 हजार लोगों के शिरकत करने की संभावना जताई जा रही है. इसके अलावा बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम के लिए 200 वीवीआईपी अतिथियों की लिस्‍ट तैयार की गई है. सूत्रों की मानें तो शपथ ग्रहण समारोह में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी, पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती समेत विपक्ष के तमाम नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा. इसके साथ ही भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्‍यमंत्रियों के भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की संभावना है.

और पढ़ें  विधानसभा सत्र के दूसरे दिन 30 छात्र छात्राओं ने देखी सदन की कार्यवाही।

पीएम मोदी समेत ये नेता भी बनेंगे योगी के कार्यक्रम का हिस्‍सा
बता दें कि यूपी की सियासत में 37 साल बाद लगातार दूसरी बार किसी पार्टी ने सत्‍ता हासिल की है, लिहाजा योगी आदित्‍यनाथ लगातार दूसरी बार सीएम पद की शपथ लेंगे. अटल बिहारी वाजपेयी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम होने वाले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई राज्यों के मुख्‍यमंत्री शामिल होंगे.

इस बार भाजपा गठबंधन को 273 सीटों पर जीत मिली है, जिसमें भाजपा ने 255, अपना दल (एस) ने 12 और निषाद पार्टी ने छह सीटों पर विजय हासिल की है. हालांकि इस बार भाजपा के 11 मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा है, जिसमें सबसे बड़ा नाम डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का है. वह कौशांबी की सिराथू सीट से सपा की पल्‍लवी पटेल से चुनाव हारे हैं. वहीं, सपा गठबंधन 125 सीटों पर सिमट गया है. सपा को 111, आरएलडी को 8 और ओम प्रकाश राजभर की पार्टी को छह सीटें मिली हैं. इसके अलावा कांग्रेस और राजा भैया की पार्टी को दो-दो, तो बसपा को एक सीट मिली ह।