अब बेटियां भी सैनिक स्कूलों में पढ़ेंगी,एनडीए में भी करेंगी कीर्तिमान स्थापित: राज्यपाल।

ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

सँवादसूत्र देहरादून/ भवाली(नैनीताल): आज राज्यपाल ले. जनरल(रि.) गुरमीत सिंह ने सैनिक स्कूल घोड़ाखाल में शक्ति स्मारक का उदघाटन किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश की बेटियो को भी सैनिक स्कूलों में पढ़ने का मौका दिया। आज वह समय आ गया है जब सैनिक स्कूलों में बेटियां पढ़ने लगी है। एक दिन यही बेटियां भारतीय सेना में जाकर देश की रक्षा करेंगी। उन्होंने सैनिक स्कूल घोड़ाखाल की उपलब्धियों की सराहना करते हुए कहा कि सैनिक स्कूल घोड़ाखाल ने देश को कई सैन्य अफसर व छह लेफ्टिनेंट जनरल दिए है। साथ ही विद्यालय के नाम कई अन्य कीर्तिमान भी स्थापित है। विजय दिवस की सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज के दिन पाकिस्तान को दो टुकड़ो में बांट दिया गया। हमारे वीर सैनिकों ने पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों को घुटने टिका दिए। आज भी देश व इस राज्य का एक-एक युवा देश की कुर्बानी के लिए तैयार रहता है। इस दौरान विद्यालय प्रबंधन व एनसीसी कैडेट मौजूद रहे।